इस राज्य में हुई ऐसी गलती जिसका खामियाजा भुगतेगी पूरी भाजपा!

0

देहरादून। साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों पर सभी की नजर बनी हुई है। इन चुनावों में जीत के लिए रणनीति तैयार करने में सत्ता और विपक्ष दोनों अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। ऐसे में यहां आयोजित भाजपा की कार्यसमिति बैठक में कुछ ऐसा हुआ, जिस पर बवाल मच गया। अब यह काम भाजपा की भूल थी या कुछ और, लेकिन जाने अनजाने में भाजपा केंद्रीय क़ानून का उल्लंघन कर बैठी, जिसका पार्टी को बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

अयोध्या में एक बार फिर से होगा गंगा-जमुनी तहजीब का संगम,…

भाजपा की भूल

खबरों के मुताबिक़ काशीपुर में आयोजित प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की बैठक में आए अतिथियों को आयोजकों की ओर से स्मृति चिन्ह भेंट किए गए, उनमें राष्ट्रीय चिह्न अशोक की लॉट का भी इस्तेमाल किया गया है।

अशोक की लाट का इस तरह से इस्तेमाल भारत के राज्य प्रतीक चिन्ह (अनुचित उपयोग का निषेध) अधिनियम-2005 के तहत कानूनन अपराध है। इसके दुरुपयोग पर कानून में सजा का भी प्रावधान है।

अशोक की लाट का स्मृति चिह्न में इस्तेमाल चर्चा का विषय बना हुआ है। कानून के जानकारों का कहना है कि कोई भी निजी व्यक्ति, संस्था या कोई सियासी दल अशोक की लाट का इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

क्राइम कंट्रोल के लिए UP पुलिस का हाईटेक कदम, खौफ से…

इस कानून में साफ कर किया गया है कि भारत के प्रतीक चिन्ह का कोई भी निजी तौर पर इस्तेमाल नहीं कर सकते। ऐसा करने पर इस कानून के उल्लंघन पर सजा के साथ ही जुर्माने का भी प्रावधान है।

बता दें भारत के राज्य प्रतीक चिह्न (अनुचित उपयोग का निषेध) अधिनियम-2005 की धारा-तीन से इस पर रोक लगाई गई है। अगर कोई प्रतीक चिह्न का गलत इस्तेमाल करता है तो इसी अधिनियम की धारा-सात में दो साल तक की सजा और पांच हजार रुपये के जुर्माने से दंडित करने का प्रावधान है।

बता दें काशीपुर में आज प्रदेश भाजपा का कार्यसमिति का समापन हो गया। इस कार्यसमिति में प्रदेश के अलावा भाजपा केंद्रीय नेतृत्व के पदाधिकारियों ने भी शिरकत की।

इस आयोजन के दौरान ही आयोजकों की ओर से मंचासीन अतिथियों  को स्मृति चिन्ह भी भेंट किए गए। इसमें एक तरफ राष्ट्रीय चिह्न अशोक की लाट का इस्तेमाल किया गया है, तो दूसरी तरफ भाजपा के चुनाव चिन्ह कमल के फूल के साथ प्रदेश कार्यसमिति 12 जुलाई काशीपुर लिखा गया है।

ये प्रतीक चिन्ह भाजपा के सह महामंत्री (संगठन) शिवप्रकाश, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू और मु्ख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत अन्य अतिथियों को भेंट किए गए।

loading...
शेयर करें