जिस किसान का अन्न खाया, उसे पाकिस्तानी एजेंट बता रही भाजपा: भगवंत

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से ही जब भी देश भर में हक़ों के लिए लोग आवाज उठाते हैं तो उसे सांप्रदायिक रंग देने से लेकर नक्सलवाद या पाकिस्तान व चीन से जोड़ने की कोशिश होती है।

चंडीगढ़: आम आदमी पार्टी (आप) की पंजाब इकाई के अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान ने आज कहा कि केंद्रीय राज्य मंत्री रावसाहब दानवेे का आंदोलनकारी किसानों को पाकिस्तान और चीन का एजेंट बताना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने जारी बयान में कहा कि जो किसान दिन-रात मेहनत करके पूरे देश का पेट पाल रहेे हैं, वही किसान आज भाजपा के लिए आतंकवादी हो गए वह भी सिर्फ इसलिए कि वह ‘काले‘ कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं? मान ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कॉर्पोरेट घरानों की दोस्ती किसी से छिपी नहीं है और कहा कि लेकिन उनको खुश करने के लिए किसानी को बेच दिया जाएगा, यह उम्मीद नहीं थी।

मान ने कहा कि प्रधानमंत्री को अपने मंत्रियों और पार्टी नेताओं को समझाना चाहिए कि आंदोलन में शामिल किसानों में वह लोग भी शामिल हैं जो चीन और पाकिस्तान की सरहदों पर देश की रक्षा करने वाले बहादुर जवानों के माता-पिता, दादा-दादी, भाई-बहन और पुत्र-भतीजे हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से ही जब भी देश भर में हक़ों के लिए लोग आवाज उठाते हैं तो उसे सांप्रदायिक रंग देने से लेकर नक्सलवाद या पाकिस्तान व चीन से जोड़ने की कोशिश होती है। उन्होंने कहा कि सरकार को जान व समझ लेना चाहिए कि देश के किसान, मजदूर, नौजवान, व्यापारी, मुलाजिम समेत अवाम तानाशाही के खिलाफ एकजुट हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को अपना अड़ियल रवैया छोड़कर कृषि कानून वापस लेने चाहिए और मंत्रियों की ओर से जा रही बेतुकी बयानबाज़ी पर लगाम लगानी चाहिए।

यह भी पढ़े:

Related Articles