भाजपा ने बुन्देलखण्ड के हालात पर चिन्ता जतायी

bundelkhand_2लखनऊ। भाजपा ने आज कहा कि प्रदेश सरकार के मुखिया का नारा ‘‘बन रहा है आज संवर रहा है कल‘‘ पूरी तरह खोखला साबित हुआ।

प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा है कि भुखमरी से बुन्देलखण्ड के गांव के गांव जिस तरह पलायन कर रहे है वह शर्मनाक है। बुन्देलखण्ड लम्बे समय से सूखे की चपेट में होने के कारण भुखमरी से ग्रस्त है। किसान बैंक और साहूकार के कर्ज के दबाव को झेलने की स्थिति में नहीं हैं और आत्महत्या कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बांदा जनपद के नरैनी तहसील के नागरपुरवा, गाल्हापुरवा छीछन, सठा और आनन्दपुर गांव के अधिकतर लोग भुखमरी व बदहाली के चलते गांव से मुम्बई, दिल्ली, गुजरात तथा पंजाब आदि की तरफ लगातार पलायन कर रहे हैं।

प्रदेश प्रवक्ता ने प्रदेश के मुखिया से मांग की की वह स्वयं तथा प्रदेश के मुख्य सचिव इन गांवों में रात्रि प्रवास कर गांवों की बदहाली से रूबरू हों तथा गरीबी व बदहाली झेल रहे किसानों की समस्याओं के निदान के लिए तत्काल कदम उठाएं।

पढ़ें बेटियां बढ़ें बेटियां‘ खोखला नारा

पार्टी ने कहा कि सपा सरकार की कथनी व करनी में जमीन आसमान का अन्तर है। प्रदेश की सपा सरकार का नारा ‘‘पढ़ें बेटियां बढ़ें बेटियां‘‘ बेसिक शिक्षा विभाग के फरमान की भेंट चढ़ गया। जिसमें छात्राओं को हाकी, फुटबाल तथा क्रिकेट खेलने पर रोक लगा दी गई है। उप्र सरकार छात्राओं को खेलों में भाग लेने से रोक कर क्या संदेश देना चाहती है।

मुख्यमंत्री का नोयडा न जाना एक बड़ा सवाल

पार्टी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी दिल्ली से हापुड़ तक 14 लेन के राष्ट्रीय राजमार्ग की आधार शिला रखकर 2015 के अन्तिम दिन विकास की एक बडी परियोजना को उपहार देने जा रहे हैं। जो पश्चिम उप्र के लोगों के लिए विकास की बडी परियोजना है। पश्चिम उत्तर प्रदेश के लोग इसकी मांग लम्बे समय से कर रहे थे। प्रदेश के विकास को इतनी बड़ी योजना के आगाज पर मुख्यमंत्री का नोयडा न जाना एक बड़ा सवाल खड़ा करता है।

मंत्री का दखल, वापस हुआ शिक्षा विभाग का तुगलकी फरमान

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button