प्रदेशभर में सुनाई जाएगी ‘बम-बम काशी’ की गूंज, बीजेपी ने तैयार किया मेगा प्लान, आप भी जानें

'विकास की गंगा' का संदेश दे रही बीजेपी अब बाबा के सहारे देगी खास संदेश

UP चुनाव को लेकर बीजेपी पूरी तरह से ताकत झोंक रही है. ‘विकास की गंगा’ का संदेश दे रही बीजेपी अब गंगा किनारे से सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की अलख भी जगाने जा रही है. अयोध्या में मंदिर निर्माण से उत्साहित बीजेपी चाहती है कि ‘बम-बम काशी’ की गूंज भी प्रदेशभर में गूंजे. इसके लिए संगठन ने कमर कस ली है. श्री काशी विश्वनाथ धाम कारिडोर के लोकार्पण समारोह से मठ-मंदिर, संत-महंतों को जोड़ने के साथ ही गांव-गांव इसका सीधा प्रसारण कराया जाएगा. तीन दिन के दीपोत्सव में उत्तर प्रदेश में कितने दीप झिलमिलाते हैं, वह भी आगे की राजनीतिक राह पर कुछ प्रकाश डालेंगे.

सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को दिया जा रहा बढ़ावा

उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालते ही योगी सरकार ने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को अपनी प्राथमिकता में रखा. अयोध्या में मंदिर निर्माण के साथ वहां का विकास बड़ा संकल्प था तो मथुरा-वृंदावन, चित्रकूट, प्रयागराज, नैमिषारण्य आदि धार्मिक नगरियों में भी विकास कार्य कराए गए. वहां पर्व-त्योहार उल्लास के साथ मनाए गए. नए तीर्थ स्थल घोषित किए. अब जब विधानसभा चुनाव नजदीक है तो इसका संदेश भाजपा जन-जन तक पहुंचाना भी चाहती है. यही वजह है कि वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ धाम कारिडोर के लोकार्पण के सरकारी कार्यक्रम के साथ पार्टी संगठन ने अपने भी कार्यक्रम बना लिए हैं.

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का 13 दिसंबर को उद्घाटन

13 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कारिडोर का लोकार्पण करेंगे तो स्क्रीन से प्रदेश के हर गांव और मठ-मंदिर में उसे दिखने का बीड़ा बीजेपी ने ले रखा है. वहीं बीजेपी के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई है कि हर घर तक दीप पहुंचाएं, ताकि आस्था के इस महत्वपूर्ण आयोजन से उत्त प्रदेश के सभी नागरिक जुड़ सकें और योगी आदित्यनाथ सरकार में धर्म नगरी में हुए विकास को महसूस कर सकें. संगठन की नजर इन दीपकों पर होगी.

यह भी पढ़ें- UP चुनाव से पहले BJP के प्लान पर प्लान, अब बनाया एक और नया प्लान

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles