बीजेपी पर भारी पड़ रहा नए अध्यक्ष का इंतजार

0

utt-bjp-2

देहरादून। उत्तराखंड बीजेपी पर नए अध्यक्ष का इंतजार पल-पल भारी पड़ रहा है। इस असमंजस की स्थिति के बीच बीजेपी ने 15 दिसंबर को प्रस्तावित नवनियुक्त जिलाध्यक्षों की बैठक भी स्थगित कर दी है। माना जा रहा है कि नए जिलाध्यक्षों की बैठक अब नए अध्यक्ष के साथ ही करवाई जाएगी। जिस वक्त हरीश रावत सरकार को तेजतर्रार नेतृत्व की सबसे ज्यादा जरूरत है, उसी वक्त बीजेपी में दिशाहीनता दिखाई दे रही है।

utt-bjp-3

प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत अपनी तयशुदा विदाई को महसूस करते हुए कामचलाउ अध्यक्ष की भूमिका में आ गए हैं। अध्यक्ष के अभाव में बीजेपी के कामकाज पर किस कदर असर पड़ा है, इसे प्रदेश मुख्यालय पर जाकर किसी भी समय महसूस किया जा सकता है। यहां पर ज्यादातर समय सन्नाटा पसरा रहता है। बीजेपी की मौजूद कार्यकारिणी के पदाधिकारी भी प्रदेश कार्यालय में बैठने से परहेज करने लगे हैं। वैसे, बीजेपी सूत्रों के अनुसार, अब नया अध्यक्ष मिलने में ज्यादा देर नहीं है। ये भी संभव है कि इसी सप्ताह नए अध्यक्ष का ऐलान कर दिया जाए।

utt-bjp-4

अनजान चेहरे के चमकने से डर भी

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के लिए ज्यादातर नाम ऐसे हैं, जो कि जाने-पहचाने हैं। मगर कुछ एक नाम ऐसे भी उभर रहे हैं, जिनमें संगठनात्मक क्षमता तो है, लेकिन हरीश रावत जैसे सीएम को टक्कर देने लायक एक्सपोजर कतई नहीं है। बीजेपी का आम कार्यकर्ता इस बात से डरा हुआ है कि कहीं उनमें से किसी को अध्यक्ष न बना दिया जाए।

utt-bjp-5.

..मगर कांग्रेस में मेला, हर वक्त रौनक

बीजेपी संगठन की अनिश्चितता का कांग्रेस पूरा फायदा उठा रही है। कोई दिन ऐसा नहीं है, जिस दिन कांग्रेस और उसके आनुशांगिक संगठनों के कार्यक्रम आयोजित न किए जा रहे हों। बीजेपी के प्रदेश मुख्यालय से एकदम अलहदा नजारा प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय का देखा जा सकता है। जहां पर हर वक्त कार्यकर्ताओं की चहल-पहल और गर्मजोशी है।

 

 

loading...
शेयर करें