भाजमो नेता धर्मेंन्द्र तिवारी बोले, ‘व्यवसायिक घराने जंगलों का विनाश कर देंगे’

भाजमो के केन्द्रीय अध्यक्ष धर्मेंन्द्र तिवारी ने कहा, संवेदनशील क्षेत्रों में खनन की अनुमति से जंगलों का समूल नाश हो जायेगा

रांची: भारतीय जनता मोर्चा (भाजमो) के केन्द्रीय अध्यक्ष धर्मेंन्द्र तिवारी ने कहा कि पर्यावरण के प्रति संवेदनशील क्षेत्रों में खनन की अनुमति देने से व्यवसायिक घराने अपने स्वार्थवश जंगलों का समूल विनाश कर देंगे।

कोयला ब्लॉक की ई.नीलामी

धर्मेंन्द्र तिवारी ने यहां नामकुम स्थित केन्द्रीय पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कोयला मंत्रालय ने हाल ही में व्वयसायिक खनन प्रक्रिया के पहले चरण के अंतर्गत ओड़िसा के तीन और झारखंड के एक कोयला ब्लॉक की ई.नीलामी के लिए निविदा आमंत्रित किया है, जिस पर सर्वोच्च न्यायालय ने पर्यावरण के संरक्षक और हितैषी को रूप में संज्ञान लिया।

उन्होंने कहा कि पर्यावरण के प्रति संवेदनशील क्षेत्रों में खनन की अनुमति देने से व्यवसायिक घराना अपने स्वार्थवश जंगलों का समूल विनाश कर देंगे और अंधाधुंध खुदाई करते हुए हरियाली से आच्छादित सघन वनीय परिसर को झरिया और धनबाद जैसे प्रदूषित क्षेत्र में तब्दील कर देंगे।

झारखण्ड में व्यवसायिक खनन

भाजमो नेता ने कहा कि सर्वोच्च अदालत के त्रिसदस्यीय बेंच का निर्णय स्वागत योग्य है, जिसके अनुसार अदालत की अनुमति बिना झारखण्ड में व्यवसायिक खनन के लिए खुदाई नहीं किया जायेगा। उन्होंने इस बात पर भी प्रसन्नता जाहिर किया कि शीर्ष अदालत ने केन्द्र सरकार को दुबारा यह निर्देश दिया है कि खनन कार्य समाप्त हो जाने पर खदान वाले क्षेत्र में पुनः घास लगाने के शर्त पर ही खदानों का पट्टा सरकार जारी किया जाए।

यह भी पढ़ेKerala Local Bodies Election Results: तिरुवनंतपुरम और त्रिवेंद्रम में BJP का खिला कमल

यह भी पढ़े‘जर्सी’ की शूटिंग हुई पूरी, शाहिद ने सोशल मीडिया पर शेयर की तस्वीरेें

Related Articles

Back to top button