चुनावी मैदान में भाजपा नेता की गुंडई, एसपी सिटी का कॉलर पकड़कर पीटा

उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में बीजेपी के कुछ नेताओं की गुंडई देखने को मिली है, यहां शुक्रवार को एमएलसी चुनाव की मतगणना के दौरान जिले के एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी को कुछ बीजेपी के नेताओं ने उनका कॉलर पकड़ कर पिट दिया है।

झांसी: उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में बीजेपी के कुछ नेताओं की गुंडई देखने को मिली है, यहां शुक्रवार को एमएलसी चुनाव की मतगणना के दौरान जिले के एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी को कुछ बीजेपी के नेताओं ने उनका कॉलर पकड़ कर पिट दिया है। मतगणना में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार की जितने की संभावना चल रही इसकी खबर लगते ही बीजेपी के कुछ नेता मतगणना स्थल के पास पहुंचे थे।

पुलिस टीम ने जब उन्हें रोका तो झड़प शुरू हो गई, इस बीच बीजेपी नेता प्रदीप सरावगी ने एसपी सिटी को कॉलर पकड़कर घसीटा और मारपीट शुरू कर दी।

इस संदर्भ में पुलिस ने बताया है कि मतगणना में सपा का एक उम्मीदवार गिनती में आगे चल रहा था इसकी खबर लगते ही बौखलाए बीजेपी के कुछ स्थानीय विधायक और कार्यकर्ता मतगणना स्थल पर धमके। काउंटिंग सेंटर के गेट पर पुलिस टीम पहले से मुस्तैद थी उनके वहां पहुंचते ही मौजूद एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी और उनकी टीम के लोगों ने बीजेपी नेताओं को अंदर जाने से रोका।

इस बौखलाए बीजेपी के नेता व कार्यकर्ताओं ने एसपी सिटी से अभद्रता करना शुरू कर दिया। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए हल्का बल प्रयोग कर इन्हे काउंटिंग सेंटर के गेट से हटाने की कोशिश की।

ये भी पढ़ें : नितिन गडकरी ने नागालैंड में राजमार्ग से जुड़ी 14 परियोजनाओं का किया शिलान्यास

बीजेपी नेता ने एसपी सिटी का कॉलर पकड़ा…

इससे नाराज बीजेपी नेता प्रदीप सरावगी ने एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी का कॉलर पकड़ कर घसीटा और मारपीट करने लगा। जब ये बवाल चल रहा था तब वहां विधायक मौजूद थे और मूकदर्शक बनकर खड़े होकर नजारा देख रहे थे।

ये भी पढ़ें : पाकिस्तान: बस स्टेशन पर ऑटो रिक्शा में हुआ धमाका, एक की मौत 

भारी फोर्स ने किसी तरह स्थिति पर पाया काबू

बीजेपी के इन नेताओं ने एसपी सिटी को गिरा-गिराकर मारापीटा, इसके बाद मौके पर भारी फोर्स पहुंची और किसी तरह स्थिति पर काबू पाया गया। इस मामले में पुलिस अब उन लोगों की पहचान कर रही है, जिन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ अभद्रता की थी। इसके अलावा मतगणना स्थल पर भारी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं।

Related Articles

Back to top button