IPL
IPL

BJP सांसद की पुत्रवधू ने की नस काटकर खुदखुशी की कोशिश, बोलीं, ‘मेरा सब कुछ लुट गया’

अंकिता ने वीडियो में कहा कि 'खुश थी मै जैसे भी थी, आयुष तुम कहते थे कि तुम्हारे घर वाले तुमसे प्यार नहीं करते हैं। मुझे प्यार करते थे। मैं तुम्हारे कारण यहां थी। मुझे किस हाल में छोड़ दिया।

लखनऊ: BJP के मोहनलालगंज, लखनऊ से सांसद कौशल किशोर के छोटे पुत्र आयुष किशोर की पत्नी अंकिता ने खुदखुशी की धमकी के बाद कल रात सांसद के आवास के बाहर अपने हाथ की नस काट ली। जिसके बाद उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें खतरे के बाहर बताया है। इससे पहले अंकिता ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी शेयर की, जिसमे उसने पति आयुष पर कई गंभीर आरोप लगाए। साथ ही उसने सुसाइड की बात की। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस टीम ने अंकिता की खोज शुरू कर दी। रविवार रात अंकिता को पुलिस ने सांसद के काकोरी स्थित आवास के बाहर से पकड़ लिया और महिला थाने भेज दिया।

‘अपने घर चले गए, उन्हीं लोगाें के पास जो तुमको प्यार नहीं करते’

अंकिता ने अपने हाथ की नस काट ली थी जिसके बाद पुलिस ने आनन्-फानन में उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। इससे पहले अंकिता ने सोशल मीडिया पर दो वीडियो शेयर की थीं। अंकिता ने वीडियो में कहा कि ‘खुश थी मै जैसे भी थी, आयुष तुम कहते थे कि तुम्हारे घर वाले तुमसे प्यार नहीं करते हैं। मुझे प्यार करते थे। मैं तुम्हारे कारण यहां थी। मुझे किस हाल में छोड़ दिया। यह भी नहीं सोचा कैसे रहूंगी। खाने के लिए भी कोई ठिकाना नहीं है। मेरा सब कुछ लुट गया। मेरे बारे में भी नहीं सोचा। सीधे अपने घर चले गए। उन्हीं लोगाें के पास जो तुमको प्यार नहीं करते थे। आज वही लोग अच्छे हैं। तुमने कहा था कि सरेंडर करने के बाद साथ रहूंगा। तुम थाने पर आए। वहां वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो जानकारी हुई। मैं थाने भी गई। वहां तुम नहीं मिले। तुमने मुझसे बात भी नहीं की।’

ये भी पढ़ें : ‘टूटे पैर के साथ प्रचार करूंगी…एक घायल बाघ सबसे खतरनाक जानवर है’

अंकिता सांसद पुत्र आयुष से बोलीं – ‘मेरे मरने के बाद तुम याद रखोगे’

अंकिता ने वीडियो में कहा कि ‘तुम्हारे बाप विधायक हैं, मै कुछ नहीं कर सकती कोई नहीं सुनेगा मेरी। मै किसी से लड़ नहीं सकती। मैंने तुम्हारा बहुत इंतजार किया। ऐसा लगता था कि तुम आओगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब मुझे नहीं रहना है। मैं हार गई हूं। मुझे इतने ही वक्त के लिए रहना था। अब दुनिया से जाना है। मुझे याद रखोगे। हर कदम पर तुम्हारे साथ थी। तुम्हारी गलतियों को भी मैने छिपाया। झूठी चोटें भी कई बार लगाईं। इसे भी मैने छिपाया। मुझे पता था कि तुम छोटे हो। लेकिन मैं पीछे नहीं हटी। तुम इतने मतलबी हो इसके बारे में नहीं पता था। अब कुछ नहीं बचा। तुमने बच्चे के बारे में भी नहीं सोचा, मेरे मरने की वजह तुम हो। तुम आयुष, तुम्हारा परिवार, तुम्हारे पिता कौशल किशोर, मां जयादेवी और भाई विकास किशोर जिम्मेदार हैं। इसके अलावा वीडियो में कई और बातें कहीं।

 

Related Articles

Back to top button