BJP-PDP गठबंधन टूटने के बाद आरोपों का दौर शुरू, कांग्रेस बोली अच्छा हुआ तो शिवसेना ने कहा-देश विरोधी था गठबंधन

जम्मू कश्मीर। जम्मू कश्मीर में बीजेपी ने पनी सहयोगी पार्टी पीडीपी से समर्थन वापस ले लिया है। इस समर्थन वापसी के आरोपों का दौर शुरू हो गया है। समर्थन वापसी की घोषणा करते हुए बीजेपी महासचिव राम माधव का कहा कि जम्मू कश्मीर में अब पीडीपी के साथ सरकार चलाना सम्भव नहीं है इसलिए हम अपना समर्थन वापस ले रहे हैं।

जम्मू कश्मीर

जबकि वहीं पीडीपी ने अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्हें गठबंधन के ऐसे टूटने का अंदाज़ा नहीं था। पीडीपी के प्रवक्ता रफी अहमद मीर ने कहा कि हमने सरकार चलाने की पूरी कोशिश की। लेकिन उसके बाद भी ये हुआ। ये फैसला हमारे लोए काफी अचरज भरा था। उन्होंने कहा कि पीडीपी को ऐसे फैसले की भनक तक नहीं थी।

वहीं कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए जो हुआ अच्छा हुआ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी ने कश्मीर को बर्बाद कर दिया और अब उन्होंने समर्थन वापस ले लिया है। बीजेपी-पीडीपी के तीन साल के शासन के दौरान सबसे अधिक सुरक्षाबलों और कश्मीरी नागरिकों की मौत हुई है। उन्होंने इसे बीजेपी का हिमालयन ब्लंडर करार दिया।

शिवसेना ने भी अपनी राय देते हुए कहा कि ये एक देश विरोधी और अप्राकृतिक गठबंधन था।ये गठबंधन अगर बना रहता तो बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में लोगों को जवाब देना पड़ता।

Related Articles