शमशान घाट पर लकड़ियों की किल्लत देख BJP प्रदेश अध्यक्ष 5 ट्रक लकड़ी लेकर पहुंचे

भोपाल: मध्यप्रदेश में तेज़ी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते स्थिति बेकाबू होती जा रही है। यहाँ सरकारी और प्राइवेट सभी अस्पताल में मरीज़ों से फुल हैं। वहीँ शमशान घाटों पर शवों की कतार लगी है। यही नहीं यह शवदाह के लिए जगह मिलने में भी घंटों लग रहे हैं। भोपाल, जबलपुर समेत कई बड़े शहरों के श्मशान घाटों में शवदाह के लिए लकड़ी की भी किल्लत पड़ रही है।

Image

ऐसा ही हाल भोपाल में भदभदा विश्राम घाट का था। यहाँ शवदाह के लिए लकड़ियों की कमी पड़ गई तब BJP के प्रदेश उपाध्यक्ष आलोक शर्मा ट्रकों से लकड़ी लेकर श्मशान पहुंच गए। अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाटों में लकड़ियों की कमी हो रही थी। बता दें जिन श्मशान घाटों में सामान्य दिनों में एक महीने में एक हजार क्विंटल लकड़ी लगती थी, वहां अब ढाई से तीन हजार क्विंटल की जरूरत पड़ रही है। श्मशान घाट ट्रस्ट की मांग पर भोपाल के लिए रायसेन और नर्मदापुरम (होशंगाबाद) से लकड़ी मांगी गई थी लेकिन नर्मदापुरम के वन अधिकारियों ने यह कहते हुए असमर्थता जता दी कि हमारे जिले में भी मामले बढ़ रहे हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने लिखा कि, ‘मैं भदभदा विश्राम घाट पहुंचा और यहां पर लकड़ी पहुंचाने का इंतजाम किया, पिछले 3 दिनों में 21 ट्रक लकड़ियां पहुंचाई जा चुकी है। ताकि अंतिम क्रिया में किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो। हम सब लोग अंत समय में पंच लकड़ी देते ही हैं। मेरी आप सब से अपील है कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करें मास्क लगाएं ,जब तक बहुत जरूरी ना हो घर से ना निकलें।

ये भी पढ़ें : Pakistan में हालात ख़राब, कई घंटों बंद किए गए सभी Social Media प्लैटफॉर्म

Related Articles