चुनाव जीतने के लिए TMC के गद्दारों का इस्तेमाल कर रही भाजपा – ममता बनर्जी

कोलकाता : पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने गुरुवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आगामी विधानसभा चुनाव जीतने के लिए तृणमूल कांग्रेस (TMC) के गद्दारों को शामिल करने का एक फार्मूला अपनाया है।

गीतांजलि स्टेडियम में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम ममता (CM Mamta) ने कहा कि बीजेपी टीएमसी के कुछ गद्दारों को साथ लेकर बंगाल चुनाव (Bengal election) जीतने के फॉर्मूले का इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने कहा कि जो लोग बीजेपी (BJP) में जा रहे हैं उन्हें याद रखना चाहिए कि बीजेपी एक दंगाई पार्टी है।

टीएमसी से बीजेपी में शामिल होने वालें नेताओं पर ब्लैक मनी का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग वहां जा रहे हैं, वे अपनी संपत्ति और खुद को सुरक्षित रखने के लिए ऐसा कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने बहुत पैसा कमाया है।

बंगाल का शांति और सद्भाव खतरे में पड़ सकता है

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीएमसी (TMC) की अगुवाई वाली राज्य सरकार लोगों के लिए काम कर रहीं है और मतदाताओं को भाजपा को राज्य से बाहर रखना चाहिए, नहीं तो बंगाल का शांति और सद्भाव खतरे में पड़ सकता है।

ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि टीएमसी का विकल्प केवल टीएमसी है, और मैं बनर्जी नहीं चाहती कि देश टूटे। वे (भाजपा) दंगे चाहते हैं, हम (टीएमसी) बीजेपी से सावधान रहना चाहते हैं। इसलिए नारा है कि हम बीजेपी नहीं चाहते हैं, हम दंगे नहीं चाहते हैं, हम भ्रष्टाचार नहीं चाहते हैं।

बंगाल में नहीं लागूं होगा CAA

उन्होंने आगे कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार (Central government) ने लॉक डाउन (Lock down)  के दौरान प्रवासी मजदूरों को मदद नहीं प्रदान की। जिसके कारण कई प्रवासियों श्रमिकों की मृत्यु हो गई। उन्होंने(बीजेपी) ट्रेनों का किराया नहीं दिया लेकिन कुछ चोरों (टीएमसी के बागियों) को दिल्ली ले जाने के लिए उन्होंने बहुत पैसा खर्च किया।”

केंद्र सरकार से नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को वापस लेने के लिए कहते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सीएए को वापस नहीं लिया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं इसे वापस लूंगी, बंगाल में CAA की अनुमति नहीं दी जाएगी।

बता दें कि राज्य में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly elections) से पहले सुवेन्दु अधकारी, राजीब बनर्जी सहित कई ममता (Mamata)के करीबी टीएमसी नेताओं ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। जिससे बंगाल में होने वाले चुनाव में इस बार टीएमसी और बीजेपी में काटें की टक्कर देखने को मिल रही है।

इसे भी पढ़े: कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही मिलेगी कुंभ मेले में एंट्री, केंद्र ने जारी की SOP

Related Articles

Back to top button