2014 में बीजेपी थी हिट, 2019 में कौन होगा फिट? क्या उत्तर देगा अपना उत्तरप्रदेश?

0

लोकसभा चुनाव 2019, कल से दस्तक देने को तैयार बैठे है. लेकिन हमारे देश की जनता किस को जिताने को तैयार है, कहना मुश्किल है. पर अंदाज़ा तो लगाया ही जा सकता है.

बाकी,

हर राजनीतिक पार्टियों के ज्यादातर नेता खुद ही भविष्यवाणी कर, खुद को जीता हुआ देख चुके है, फिर भी जीत की तैयारी में लगे है. घोषणा पत्र को “संकल्प पत्र” और “जन आवाज़” जैसे नाम दिए जा रहे है जिससे लगता है मानो सिर्फ घोषणा पत्र कह देंगे तो 2019 का चुनाव बिना लड़ें ही हार जायेंगे.

खैर, इन् लोकसभा चुनाव में कौन सी पार्टी करेगी ‘चांस पे डांस’ कहना मुश्किल है, लेकिन बोहत मुश्किल नही.

11 अप्रैल यानी कल लोकसभा चुनाव अपना ‘पहला चरण’ भारत के 20 राज्यों की 91 सीट्स में रखकर, गृहप्रवेश करेगा.

चुनाव आयोग के अनुसार पहले चरण के लिये आठ अप्रैल तक चुनाव मैदान में कुल उम्मीदवारों की संख्या 1279 है। इस चरण के लिये नामंकन की अंतिम तिथि 25 मार्च और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 28 मार्च थी। आयोग द्वारा अधिसूचना के अनुसार पहले चरण के मतदान वाली 91 सीटों पर सुबह सात बजे मतदान शुरु होगा। इनमें से कुछ सीटों पर शाम चार बजे तक, कुछ पर पांच बजे तक और कुछ सीटों पर छह बजे तक मतदान होगा।

पहला चरण- 11 अप्रैल- 91 सीटों- आंध्र प्रदेश (25 सीटें), अरुणाचल (2 सीटें) असम (5 सीटें) बिहार (4 सीटें) छत्तीसगढ़ (1 सीटें) जम्मू-कश्मीर (2 सीटें), महाराष्ट्र (1 सीट), मेघालय (1 सीट), मिजोरम (1 सीटें), ओडिशा (4 सीटें), सिक्किम (1 सीट), तेलंगाना (17 सीटें) त्रिपुरा (1 सीट), उत्तर प्रदेश (8 सीटें), उत्तराखंड (5 सीटें), पश्चिम बंगाल (2 सीटें), अंडमान निकोबार (1 सीट), लक्षद्वीप (1 सीट)

कितना बदला है उत्तर प्रदेश का मूड

11 अप्रैल को होगी इन जगह वोटिंग-गौतमबुद्ध नगर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, सहारनपुर.

कैराना-

कैराना लोकसभा सीट 2014- 1) बीजेपी के हुकुम सिंह 5 लाख 65 हज़ार 909 वोटो से जीते

2)नाहिद हसन(सपा)- 3 लाख 29 हज़ार

3)कवर हसन(बसपा)- 1 लाख 60 हज़ार 414

लेकिन 2018 के उपचुनावों में बीजेपी की ये लहर बीजेपी को ही ले डूबी और राष्ट्रीय लोक दल के तब्बसुम हसन ने हुकुम सिंह की जगह ले ली.

मुज्ज़फर्नगर-

2014 का चुनाव किसे कितने वोट मिले थे?
कुल डाले गए मत- 1102695
संजीव बालिया भाजपा 653391 59.25
कादिर राना बसपा 252241 22.87
वीरेंद्र सिंह सपा 160810 14.58
पंकज अग्रवाल कांग्रेस 12937 01.17

गाज़ियाबाद लोकसभा सीट 2014– 1)जनरल वीके सिंह(बीजेपी)- 7 लाख 58 हज़ार 482 वोट

2)राज बब्बर(कांग्रेस)-1 लाख 91 हज़ार 188 वोट

3)मुकुल उपाध्याय(बसपा)- 1 लाख 73 हज़ार वोट

 

बाघपत-  1998 में पहली बार भगवा ध्वज लहाराया था बागपत पर
बागपत लोकसभा सीट पर भाजपा ने सबसे 1998 में जीत हासिल की थी। इस सीट पर तब भाजपा के प्रत्याशी सोमपाल शास्त्री ने चौधरी अजित सिंह को हराया था। इस चुनाव में सोमपाल शास्त्री को जहां 2,64,736 वोट मिले थे, वहीं अजित सिंह को 2,20,030 वोट ही मिले थे। उसके बाद दूसरी बार 2014 में भाजपा के सिंबल पर सत्यपाल सिंह यहां पर चुनाव जीते और इस चुनाव में चौधरी अजित सिंह तीसरे नंबर पर पहुंच गए थे।
मीरट 2014- 1)राजेंद्र अगरवाल(बीजेपी)-5,32,981; 47.86%

2)मोह्हमद शाहिद अखलाख(बसपा)-3,00,655; 27%

3)शाहिद मंजूर; समाजवादी पार्टी; कुल वोट मिले- 2,11,759; 19.01%
नगमा; कांग्रेस; कुल वोट मिले- 42,911; 3.85%

सहारनपुर-
लोकसभा चुनाव का नतीजा, 2014
राघव लखनपाल, भारतीय जनता पार्टी, कुल वोट मिले 472,999,
इमरान मसूद, कांग्रेस, कुल वोट मिले 407,909,
जगदीश सिंह राणा, बसपा, कुल वोट मिले 235,033,

कुल वोटर 16,08,833
पुरुष वोटर 8,73,318 पुरुष,
महिला वोटर 7,35,515\

बिजनोर-

नाम पार्टी कितने वोट मिले वोट प्रतिशत
कुंवर भारतेंद्र सिंह भारतीय जनता पार्टी 486913 45.9%
शाहनवाज राना समाजवादी पार्टी 281136 26.5%
मलूक नागर बहुजन समाज पार्टी 230124 21.7%
जयाप्रदा राष्ट्रीय लोकदल 23348 2.3%

गौतम बुद्ध नगर-

2014 डॉ. महेश कुमार शर्मा (भाजपा) ने जीत हासिल की.

 

2019 के लिए बीजेपी, कांग्रेस, सपा-बसपा गठबंधन के ब्रह्मस्त्रा-

लोकसभा सीट
SP+BSP+RLD BJP+ कांग्रेस
सहारनपुर हाजी फजलुर्रहमान (बीएसपी) राघव लखनपाल इमरान मसूद
कैराना तबस्सुम हसन (SP) प्रदीप चौधरी हरेंदर मलिक
मुजफ्फरनगर अजित सिंह (RLD) संजीव बालियान
बिजनौर मलूक नागर (बीएसपी) कुंवर भारतेंद्र सिंह नसीमुद्दीन सिद्दीकी
मेरठ हाजी मोहम्मद याकूब (बीएसपी) राजेंद्र अग्रवाल हरेंद्र अग्रवाल
बागपत जयंत चौधरी (RLD) सत्यपाल सिंह
गाजियाबाद सुरेश बंसल (SP) वी के सिंह डॉली शर्मा
गौतमबुद्ध नगर सतबीर नागर (बीएसपी) महेश शर्मा अरविंद सिंह चौहान

 

अब देखना ये होगा की जनता कहा और किसको अपनी ज़िम्मेदारी सौपती है. 2014 में आई मोदी लहर की अब चंद बुँदे भी ढूँढने से भी नही मिलती. 2018 में हुए उपचुनावों ने भी जनता के बदले मूड का सबूत दिया है.

खैर, ये तो जनता है, इसके MOOD SWINGS कभी भी हो सकते है.

यह भी जानिए की 7 चरणों में कब और कहा होना है उत्तरप्रदेश में पोलिंग-

उत्तर प्रदेश में 80 सीटें, 7 चरणों में मतदान
11 अप्रैल: गौतमबुद्ध नगर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, सहारनपुर
18 अप्रैल: अलीगढ़, अमरोहा, बुलंदशहर, हाथरस, मथुरा, आगरा, फतेहपुर सीकरी, नगीना
23 अप्रैल: मुरादाबाद, रामपुर, संभल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली, पीलीभीत
29 अप्रैल: शाहजहांपुर, खेड़ी़, हरदोई, मिश्रिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कनौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन, झांसी, हमीरपुर
6 मई: फिरोजाबाद, धौरहरा, सीतापुर, माेहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशांबी, बाराबंकी, बहराइच, कैसरगंज, गोंडा
12 मई: सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, प्रयागराज, अंबेडकर नगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संत कबीर नगर, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर, भदोही
19 मई: महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सालेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज

loading...
शेयर करें