बीजेपी के घोषणा पत्र में हो सकती है युवाओं ,महिलाओं और किसानों के हित कि बातें

9 अप्रैल को जारी हो सकता भाजपा का संकल्प पत्र । पार्टी इसके साथ पिछले पांच वर्षो में किये गये कार्यो की प्रगति रिपोर्ट भी पेश कर सकती है। 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी अपने संकल्प पत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा, किसान कल्याण, युवा एवं महिला सशक्तीकरण पर खास जोर देगी। सूत्रों के मुताबिक किसानों के कल्याण के लिए भाजपा को लोगों से बड़ी संख्या में सुझाव मिले हैं।

कांग्रेस के घोषणापत्र में गरीबों को आर्थिक मदद प्रदान करने संबंधी ‘न्याय योजना’के वादे के मद्देनजर भाजपा अपने संकल्प पत्र को ज्यादा धारदार और लुभावना बनाकर पेश करना चाहती है।

बीजेपी के घोषणा पत्र में हो ऐसे संकल्प –

  • किसानों के लिए मासिक पेंशन योजना और कृषक भविष्य निधि।
  • राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय का प्रमुखता से उल्लेख।
  • रोजगार एवं स्वरोजगार के व्यापक अवसर का खाका।
  • मंत्रिपरिषद् में महिलाओं के लिए 15 फीसदी आरक्षण।
  • सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने की पहल पर विस्तार से चर्चा।
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना को व्यापक बनाने के संबंध में चर्चा।
सूत्रों के अनुसार पार्टी को लोगों की और से कई तरह के सुझाव भी दिए गए हैं जिसमें संवैधानिक अधिकारों की सुरक्षा संबंधी आयोगों में महिलाओं के लिये 33 प्रतिशत आरक्षण का सुझाव शामिल है। महिला कारोबारियों को कर रियायत और शहीद जवानों की विधवाओं को सरकारी नौकरी देने का सुझाव भी प्राप्त हुआ है।

 

युवाओं के लिये रोजगार के अवसर बढ़ाने और स्वरोजगार को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देने को लेकर भी विस्तार से चर्चा की जा सकती है । तीन तलाक, राम मंदिर, एक देश एक चुनाव के विषयों पर भी लोगों के काफी संख्या में सुझाव आए हैं।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में पार्टी ने संकल्प पत्र (घोषणापत्र) समिति बनाई थी। इसके तहत देशभर में करीब 7500 सुझाव पेटियों, 300 रथों और इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से जनता के सुझाव लिए गए थे। अब देखना यह है कि जनता का समर्थन हासिल करने के लिए भाजपा अपने घोषणापत्र में जनता के सुझावों और अपनी नीतियों के बीच कितना संतुलन बना पाती है।

Related Articles