BJP की नयी रणनीति, BJP अब बहार रहने वाले उत्तर प्रदेश के निवासियों से संपर्क कर रही जानिए क्यों?

UP Assembly Election 2022 की तैयारियों को लेकर बीजेपी कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती और अपने संगठन को मजबूत और कार्यकर्ताओं को एक्टिव करने को लेकर बूथ स्तर तक के सम्मलेन हों या जातियों को साधने के लिए जातिगत सम्मेलन, सभी तरह के कार्यक्रम शुरू किए जा चुके हैं

लखनऊ: UP Assembly Election 2022 की तैयारियों को लेकर बीजेपी कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती और अपने संगठन को मजबूत और कार्यकर्ताओं को एक्टिव करने को लेकर बूथ स्तर तक के सम्मलेन हों या जातियों को साधने के लिए जातिगत सम्मेलन, सभी तरह के कार्यक्रम शुरू किए जा चुके हैं, अब बीजेपी की नजर अन्य राज्यों में रह रहे उत्तर प्रदेश के 3 करोड़ से अधिक वोटरों पर है और इसके लिए बीजेपी ने अपनी स्टेट यूनिट को उन राज्यों में रह रहे लोगों का डेटा तैयार करने को कहा है।

जानें बीजेपी क्या रणनीति बनाई है ?

बीजेपी ने अपने सभी स्टेट यूनिट को बोला है कि अपने-अपने राज्यो में रह रहे उत्तर प्रदेश के लोगों का डेटा तैयार करें और उनसे संपर्क करें और महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, दिल्ली और बंगाल आदि राज्यों में 3 करोड़ से अधिक उत्तर प्रदेश के वोटर रहते हैं, इन लोगों से संपर्क साधकर बीजेपी इनको अपने पक्ष में मतदान करने के लिए प्रेरित करेगी और इसके लिए सभी राज्यों की इकाई ने डेटा इकट्ठा करना शुरू कर दिया है और सभी लोगों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है।

प्रवासी बीजेपी के लिए प्रचार भी करेंगे

 

इसके अलावा बीजेपी इनमें से कुछ लोगों का अपने पक्ष में प्रचार के लिए इस्तेमाल भी करेगी. ये लोग उत्तर प्रदेश में जगह जगह जाएंगे और जन सम्पर्क करेंगे। ये सभी लोग बताएंगे कि किस तरह से यूपी में योगी सरकार के आने से माहौल बदला है और अन्य राज्यों में किस तरह से उसकी चर्चा होने लगी है। कानून व्यवस्था, तमाम बड़ी कंपनियों द्वारा निवेश, भ्रष्टाचार मुक्त शासन आदि मुद्दों को लेकर जनता से बात करेंगे और अभी तक महाराष्ट्र से तकरीबन 50 हजार लोगों के यूपी में प्रचार करने की बात सामने आई है। अन्य राज्यों से भी जल्दी ही संख्या सामने आएगी।

अभियान शुरू, सरकार के काम का प्रचार करेंगे प्रवासि

 

आपको बता दें कुछ दिन पहले महाराष्ट्र में बीजेपी के उत्तर भारतीय मोर्चा की प्रभारी श्वेता शालिनी के नेतृत्व में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, संगठन मंत्री सुनील बंसल और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से मुलाकात की है। इस मुलाकात में उन्होंने बताया कि तकरीबन डेढ़ करोड़ उत्तर भारतीय महाराष्ट्र में रहते है उनमें पूर्वी यूपी और बिहार के लोग ज़्यादा हैं और वो उनसे संपर्क साध रही है, इसके साथ साथ 50 हज़ार से ज़्यादा लोग महाराष्ट्र से यूपी आएंगे और सरकार के काम का प्रचार करेंगे।

 

यह भी पढ़ें: फिर एक बार Pawan Singh और Payal Dev का Song ‘करंट’ रिलीज होते ही धमाल मचा दिया

Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles