देवरिया में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने जलाया पुतला, महाराष्ट्र सरकार पर उत्पीड़न का आरोप

देवरिया में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने जलाया पुतला, महाराष्ट्र सरकार पर उत्पीड़न करने का लगाया आरोप

देवरिया: मोर्चा (भाजयुमो) के कार्यकर्ताओं ने एक निजी चैनल के एडिटर-इन-चीफ ‘अर्णव गोस्वामी‘ की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के विरोध में नारे लगाये और मुख्यमंत्री का पुतला जलाया।

उत्पीड़न करने का आरोप

भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने महाराष्ट्र की कांग्रेस और शिवसेना सरकार पर लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ प्रेस का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा महाराष्ट्र सकार तानाशाही पर उतर आयी है। भाजयुमो जिलाध्यक्ष विन्देश पाण्डेय ने कहा कि ‘महाराष्ट्र की सरकार तानाशाही कर रही है’।अपनी नाकामी को छिपाने के लिये सरकार द्वारा सत्य बोल रहे पत्रकारों को पुराने केसों में फंसाकर जेल भेज रही है।आये दिन महाराष्ट्र में पत्रकार बन्धुओं का उत्पीड़न किया जा रहा है। कांग्रेस समर्थित महाराष्ट्र सरकार का यह कृत्य लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया को स्वतंत्र रूप से कार्य करने से रोकने का कुत्सित प्रयास है और भाजयुमो इसकी निन्दा करता है।

अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार

भाजपा के जिला मीडिया प्रमुख अम्बिकेश पाण्डेय ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और शिवसेना के द्वारा पत्रकारों कि गिरफ्तारी, उत्पीड़न अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार है। देश में इमरजेंसी थोपने व सच्चाई का सामना करने से हमेशा मुंह छुपाने वाली कांग्रेस पुनः प्रजातंत्र का गला घोंटने का प्रयास कर रही है।

लोकतंत्र व संविधान विरोधी ताकत

मुंबई में प्रेस-पत्रकारिता पर हुआ हमला बहुत ही निंदनीय एवं दुखद है। जिन लोकतंत्र व संविधान विरोधी ताकतों ने 1975 में इमरजेंसी लगाई थी ,उसी तरह की मनः स्थिति के साथ आज महाराष्ट्र सरकार पत्रकारों के विरुद्ध कार्रवाई कर रही है। हम इसकी घोर भर्त्सना करते हैं।

लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर हमला

भाजयुमो के नगर अध्यक्ष आकाश मिश्रा ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने पत्रकारों को गिरफ्तार करके उनका उत्पीड़न करके लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर हमला किया है।सत्ता का दुरूपयोग करते हुए पत्रकार भाइयों के साथ जो किया जा रहा है, ये पत्रकारिता जगत के लिए एक काला दिन है। जिसका मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूं।

यह भी पढ़े:केजरीवाल ने दिल्लीवासियों से कहा ‘किसी भी हालत में पटाखे नहीं जलाना’

यह भी पढ़े:भारत के लोगों के लिए खुशखबरी, फरवरी में आ सकती है ‘देसी कोरोना वैक्सीन’

Related Articles

Back to top button