Black Fungus: सावधान…ब्लैक फंगस के बारे में जानें पूरी रिपोर्ट, इम्यूनिटी बढ़ाएं, ये हैं Fungus के लक्षण

कोरोना संकट के बीच अब ‘ब्लैक फंगस’ नाम की बीमारी लोगों में महामारी के रूप में तेजी से फैलते जा रही है, कोरोना को हराने के बाद भी लोग सावधानी बरते, शुगर के मरीज रखें विशेष ख्याल

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) की दूसरी वेव का स्ट्रेन खतरनाक होते जा रहा है। जिसकी चपेट में लोग तेजी से संक्रमित होते जा रहे हैं। कोरोना संकट के बीच अब ‘ब्लैक फंगस’ (Black Fungus) नाम की बीमारी लोगों में महामारी के रूप में तेजी से फैलते जा रही है। जिसका सीधा असर हमारी आंखो पर हो रहा है। समय पर इलाज नहीं हुआ तो मरीज की जान भी जा सकती या फिर मरीज की आंख निकालनी पड़ सकती है। राजस्थान सरकार ने ‘ब्लैक फंगस’ को महामारी घोषित किया है।

जानें क्या है यह बीमारी

‘ब्लैक फंगस’ (Black Fungus) यानी की ‘काला कवक’ काफी पुरानी बीमारी है। लेकिन कोरोना वायरस के दूसरी लहर में यह बीमारी अचानक तेजी से फैल रही है। इसे म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis) भी कहते है। ये बीमारी उन लोगों में ज्यादा होती है जो (Wet Condition) नमी वाले जगह में रहते है। जिनमें पहले से कोई बीमारी हो या ऐसी दवा लेते हो जो इम्यूनिटी (Immunity) को कमजोर करती हैं। इसके साथ ही जो मधुमेह (Diabetes) के मरीज है।

कोरोना से ठीक हुए लोगों में फंगस

लेकिन अभी अचानक पिछले 2 हफ्तों में कोरोना वायरस से जो लोग ठीक हो चुके हैं उनमें ब्लैक फंगस की बीमारी ज्यादा तेजी से फैल रही है। कोरोना के गंभीर मरीजों को डॉक्टर इलाज के दौरान स्टेरॉयड (Steroid tablets) टैब्लेट देते है इससे शुगर लेवल बढ़ता है। लेकिन इम्यूनिटी कमजोर होता है। इसलिए कोरोना के मरीजों को ठीक होने के बाद Black Fungus होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है।

AIIMS डाक्टर का बयान

दिल्ली AIIMS में न्यूरोलॉजी विभाग की डॉक्टर एमवी पद्म श्रीवास्तव ने बताया कि, अब ऐसे यंग और नौजवानों में भी Black Fungus दिखने लगे हैं जो डायबिटीक नहीं है। ऐसे लोग जिन्हें ऑक्सीजन लगी नहीं। जो होम आइसोलेशन में थे और जिन लोगों को कोरोना हुआ ही नहीं है वो भी इस बीमारी (Mucormycosis) के शिकार हो रहे हैं। डॉक्टर ने बताया कि मरीजों की आंखों में दर्द साइनेस की प्रॉब्लम, आंख की रोशनी चली गई, वो दवा के लिए भागदौड़ कर रहे हैं लेकिन दवा नहीं मिल रही क्योंकि ब्लैक फंगस के केस अचानक इतने बढ़ गए हैं। और ये सबसे बड़ी चिंता की बात है।

इंफेक्शन से कैसे बचे?

  • सबसे पहले तो ये करें कि आप अपना शुगर कंट्रोल करें।
  • एंटी बायोटिक दवाएं सोच-समझकर लें।
  • सावधानी बरतें।
  • साफ-सफाई का ध्यान रखें। जिससे ऑक्सीजन जानें के रास्ते साफ रहें।
  • इम्यूनिटी बढ़ाने वाली खाद्य चीजों की सेविन करें।
  • कोरोना की दवा का सोच-समझकर इस्तेमाल करें।

दिल्ली में म्यूकोर्मिकोसिस केस

Delhi के सर गंगा राम अस्पताल के डॉक्टर डी.एस. राणा ने बताया कि सर गंगा राम अस्पताल में हमें म्यूकोर्मिकोसिस के 48 मरीज मिले हैं। 16 मरीज अस्पताल में भर्ती होने के इंतजार में हैं।

AIIMS के प्रमुख, न्यूरोलॉजी विभाग  की डॉक्टर एमवी पद्म श्रीवास्तव ने बताया कि ब्लैक फंगस के मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। हमने तीन अंकों का आंकड़ा पार कर लिया है। हमने एम्स ट्रॉमा सेंटर और AIIMS झज्जर में अलग से ‘म्यूकर’ वार्ड बनाए हैं। हमें रोजाना इस बीमारी के 20 से अधिक मामले मिल रहे हैं। डाक्टर ने कहा कि मधुमेह के मरीजों को इससे से बचने के लिए मधुमेह को कंट्रोल में रखना चाहिए।

UP में फंगस के मरीज

यूपी के अलीगढ़ में CMO डॉक्टर. बी.पी. कल्याणी ने बताया कि ब्लैक फंगस के हमारे पास 2 मामलों की सूचना है, लखनऊ (Lucknow) से हमें कल तक दवाएं मिल जाएंगी। तब तक हम जो दवा दे सकते हैं, उनसे काम चला रहे हैं।

मेरठ (Meerut) जिलाधिकारी के. बालाजी ने कहा कि, Black Fungus के मामले थोड़े बढ़ रहे हैं। काफी मरीज रेफर होकर चले गए हैं। जो मरीज यहां हैं उनके लिए LLRM मेडिकल कॉलेज में अलग वार्ड की व्यवस्था की गई है। कल LLRM में 5 मरीज थे। न्यूटिमा हॉस्पिटल में 1 मौत की सूचना है। हम उसके कारण की समीक्षा करा रहे हैं।

MP में नि:शुल्क इलाज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में COVID-19 नियंत्रण प्रबंधन की समीक्षा बैठक में बोले कि मध्यप्रदेश में संतोष और राहत की बात यह है कि COVID-19 का लगातार रिकवरी रेट बढ़ रहा है। ऑक्सीजन, दवाओं और बेड की पर्याप्त व्यवस्था है। ब्लैक फंगस के नि:शुल्क इलाज की हम प्रदेश में व्यवस्था कर रहे हैं।

ब्लैक फंगस (Black Fungus) के लक्षण-

  • आंखों का लाल होना
  • होठों पर सूजन
  • थकान और सिर दर्द
  • धड़कन तेज,
  • सीने में दर्द होना
  • हाथों और पैरों में सूजन
  • शरीर पर गांठ बनना
  • लगातार बुखार
  • उल्टी और पेट दर्द
  • त्वचा पर चकते
  • बुखार और खांसी-जुकाम
  • थकान और दस्त
  • गले में खराश
  • मांसपेशियों में दर्द
  • सांस लेने में दिक्कत

यह भी पढ़ेCorona Update: भारत में COVID-19 के 2,76,070 नए मामले, जानें अपने राज्य में संक्रमण का आंकड़ा

Related Articles