ढोल-नगाड़ों की थाप और पटाखों की गूंज के बीच ‘काला’ रिलीज

चेन्नई: तमिलनाडु में ढोल-नगाड़ों की थाप और पटाखों की गूंज के बीच सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ गुरुवार को रिलीज हो गई। राज्य में जिन सिनेमाघरों में यह फिल्म दिखाई जा रही है, वहां पुलिस द्वारा अतिरिक्त सुरक्षा का बंदोबस्त किया गया है।

तड़के से ही सिनेमाघरों के बाहर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ नजर आ रही है।

यहां के एक सिनेमाघर के बाहर एक शख्स ने मीडिया को बताया, “मैं रजनीकांत का प्रशंसक हूं। मैं कर्नाटक से हूं और यहां फिल्म देखने के लिए आया हूं।”

कोयंबटूर थिएटर में एक प्रशंसक ने एक टेलीविजन चैनल को बताया, “मेरे लिए आज दिवाली है। इस फिल्म के लिए मैंने बहुत इंतजार किया है। यह रजनीकांत की फिल्म नहीं बल्कि निर्देशक पी. रंजीत की है। ”

‘काला’ को तमिलनाडु और कर्नाटक में विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

कई तमिल कार्यकताओं और राजनीतिक दलों ने तूतीकोरिन में हुई हिंसा पर रजनीकांत के विचारों के खिलाफ विरोध जाहिर किया है।

हिंसा प्रभावित तूतीकोरिन का दौरा करने के दौरान रजनीकांत ने कहा था कि हिंसा में असमाजिक तत्व शामिल थे। हिंसा के दौरान 22 मई को पुलिस कार्रवाई में 13 लोग मारे गए थे।

कर्नाटक में भी रजनीकांत के इस बयान के बाद कि कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी के बीच पानी के बंटवारे को लेकर कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) गठित किया जाना चाहिए, कुछ संगठन फिल्म की रिलीज का विरोध कर रहे हैं।

Related Articles