सावधान! ‘बॉडी हीट’ लीक कर देगी आपका पासवर्ड, मिनटों में हो सकता है बड़ा खेल

0

नई दिल्ली। आज के दौर में सभी हाईटेक हो चले हैं। कोई भी काम हो बस एक क्लिक और घर बैठे सभी मुश्किलें आसान हो जाती है। लेकिन इसके उलट जितनी तेजी से टेक्नोलॉजी चीजों को सुविधाजनक बना रही है, बुरी मानसिकता वाले इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर आपको नुकसान पहुंचाने के रास्ते खोज लेते हैं। ऑनलाइन के बढ़ते कदम के साथ डिजिटल धोखाधड़ी और लूट के मामले तेजी से पैर पसार रहे हैं।

जापानी कंपनी ने बनाया उड़ने वाला छाता, बिना हाथ लगाए ऐसे…

डिजिटल धोखाधड़ी और लूट

हालांकि इस मामले में साइबर क्राइम के लिए स्पेशल टीमें भी बनाई गई है, जो ऐसी मानसिकता वाले लोगों को रोकने का काम करती हैं। लेकिन धोखाधड़ी और जालसाजी का हुनर रखने वाले ये महारथी उससे भी एक कदम आगे रखने का हौसला रखते हैं। इसी का एक उदाहरण है ‘थर्मैन्टॉर अटैक’।

इसके बारे में शायद ही अभी तक किसी ने सुना या पढ़ा हो। ये एक ऐसी तकनीक है, जिसके सहारे चंद सेकेंड में आपका पूरा का पूरा एकाउंट साफ़ हो सकता है, वो भी बिना आपसे किसी तरह की जानकारी हासिल किए। दरअसल इस मामले में हैकर्स आपकी बॉडी हीट के जरिये आपका पासवर्ड हासिल करने में सफल हो जाते हैं।

जल्दी करें मौक़ा छूट ना जाए, सिर्फ 4 रुपये में खरीदें…

खबरों के मुताबिक़ इस रिसर्च पर काम करने वाले प्रफेसर जीन सुडिक ने बताया, ‘यह एक नए तरीके का हमला है जिसकी मदद से मात्र एक मिनट के अंदर कोई हैकर मिड रेंज के थर्मल कैमरा से एक नॉर्मल कीबोर्ड पर क्लिक किए गए कीज को कैप्चर कर सकता है।

अगर आपने पासवर्ड टाइप किया और उठकर चले गए, तो हैकर इसके बारे में जानकारी इकट्ठा कर सकता है।

इस तरीके के अटैक को ‘थर्मैन्टॉर’ नाम दिया गया है और बताया गया इसे टेक्स्ट, कोड्स या बैंकिंग पिन्स का ऐक्सेस पाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।’

इस तरह के लिए अटैक के लिए हैकर को थर्मल कैमरे को इस तरह सेट करना पड़ता है, जिससे विक्टिम के कीबोर्ड का व्यू एक दम साफ आए। इस फुटेज के इस्तेमाल से यह पता लगाया जा सकता है कि विक्टिम ने किन-किन कीज को प्रेस किया है। जिसको बाद में दूसरे कोड में असेंबल किया जा सकता है।

बैक गियर के साथ 2018 Honda Gold Wing की एंट्री, करेगी…

इसके ट्रायल के दौरान, 31 लोगों ने 4 अलग-अलग तरह के कीबोर्ड्स पर अपने पासवर्ड एंटर किए। 8 नॉन-एक्पर्ट्स लोगों को थर्मल कैमरा के फुटेज के आधार पर उन कीज का पता लगाने के लिए कहा गया जिसे लोगों ने इस्तेमाल किया था।

परिणाम में सामने आया कि पासवर्ड एंटर करने के 30 सेकंड तक जिस डेटा को थर्मल कैमरे ने रिकॉर्ड किया, वह कीज को रिकवर करने के लिए पर्याप्त था।

यानी अब निजी जानकारियों को सुरक्षित रखने के लिए आपको पहले से भी ज्यादा सावधान और होशियार रहना होगा। क्योंकी आपकी एक छोटी सी भूल आपको जिंदगी का सबसे बड़ा झटका दे सकती है।

फिलहाल इस तरह के अटैक से बचाव के रास्ते तलाशे जा रहे हैं। शोधकर्ता पूरी कोशिश में लगे हुए है, जिससे अपने एक्सेस कोड को सुरक्षित करने में लोग कामयाब हो सकें।

loading...
शेयर करें