आज शाम 4 बजे से पहले बंद होंगी भारत में बोइंग 737 मैक्स विमानों की उड़ानें

0

लंदन: इथियोपिया में रविवार को हुए विमान हादसे के बाद भारत समेत 45 देशों ने बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों पर रोक लगा दी है। रोक लगाने वाले देशों में 28 यूरोप के हैं। भारत में जेट एयरवेज और स्पाइस जेट के पास इस मॉडल के कुल 17 विमान हैं। नागरिक उड्डयन सचिव ने बुधवार शाम 4 बजे सभी एयरलाइंस की इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। इससे पहले नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने सभी बोइंग 737 मैक्स विमानों को ग्राउंडेड करने के लिए कहा है। इससे पहले यूरोपियन यूनियन के रेगुलेटर ने पूरे यूरोप में इन विमानों पर पाबंदी लगाने की घोषणा की।

6 महीने में दूसरा बोइंग 737 मैक्स विमान क्रैश

इथियोपिया में हुए हादसे में 6 भारतीयों समेत 157 लोगों की मौत हुई थी। घटनाक्रम पर बोइंग ने कहा, ‘कंपनी की प्राथमिकता सुरक्षा है। हमें 737 मैक्स विमानों में मौजूद सुरक्षा उपायों पर भरोसा है। दुनिया की अलग-अलग रेगुलेटरी एजेंसियों ने इसकी उड़ान जारी रखने या रोकने का फैसला किया है। हम उनका सम्मान करते हैं।’

पिछले साल अक्टूबर में इंडोनेशिया के लायन एयर का इसी मॉडल का विमान क्रैश हुआ था। तब 189 लोगों की जान गई थी। दोनों हादसों से पहले पायलट ने प्लेन में खराबी आने की बात कही थी।

यूरोप के 28 देशों के अलावा चीन, ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, इथोपिया, दक्षिण अफ्रीका, मलेशिया, सिंगापुर, वियतनाम, ओमान, मोरक्को, मंगोलिया और दक्षिण कोरिया ने उड़ान पर रोक लगाई।

  • पूरी दुनिया में अब तक 40% बोइंग 737 मैक्स विमान खड़े कर दिए गए।
  • चीन की एयरलाइंस के पास इस मॉडल के सबसे ज्यादा 97 विमान मौजूद हैं।
  • जनवरी तक बोइंग ने 5,011 ऑर्डर में से 370 विमान डिलीवर किए थे।
  • रविवार के हादसे के बाद दो दिन में बोइंग का शेयर अमेरिकी बाजार में 12.76% गिर चुका है। कंपनी का मार्केट कैप 2.10 लाख करोड़ रुपए घटकर 14.84 लाख करोड़ रुपए रह गया है। सोमवार को इसमें 5.3% गिरावट दर्ज हुई थी। मंगलवार को कारोबार के दौरान यह 7.46% नुकसान के साथ 370 डॉलर पर आ गया। शुकवार को शेयर की कीमत 422.42 डॉलर थी। मार्केट कैप 16.94 लाख करोड़ रुपए था।
loading...
शेयर करें