Fraud : मैं सीएम का सचिव शंभू यादव बोल रहा हूं

drafting-the-anti-fraud-code

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में खुद को मुख्यमंत्री का सचिव शंभू यादव बताने वाले एक शख्स को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। यह शख्स पिछले कई महीनों से फर्जी सचिव बनकर पुलिस वालों को भी धौंस दे रहा था। पुलिस के अनुसार, लखीमपुर खीरी निवासी संतराम आए दिन किसी न किसी की पैरवी के लिए फोन कर देता था। वह अपनी पहचान मुख्यमंत्री के सचिव शंभू यादव के रूप में बताता था। इसके बाद पुलिस वालों ने लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार पांडेय को जानकारी दी।

राजेश कुमार के आदेश पर उसके नंबर को पुलिस ने जांचना शुरू किया और फिर जो सच सामने आया, उसे देखकर पुलिस वालों के होश उड़ गए। आनन-फानन में पुलिस ने जालसाजी करने वाले मुख्यमंत्री के फर्जी सचिव को गिरफ्तार कर लिया।

एसएसपी राजेश पांडेय ने बताया कि लखीमपुर जिले के मजरा नया गांव का रहने वाला संतराम, मुख्यमंत्री का सचिव शंभू यादव के नाम से पुलिस को फोन किया करता था। उसे हिरासत में ले लिया गया है।

उन्होंने बताया, “एक घटनाक्रम में संतराम ने पुलिस स्टेशन में फोन करके कहा कि मैं सीएम का सचिव शंभू यादव बोल रहा हूं, एसपी खीरी से कहो कि इसी नंबर पर मुझे कॉल करे। सामान्य मोबाइल नंबर होने पर पुलिस अधिकारियों को शक हुआ। इसके बाद पुलिस ने नंबर को सर्विलांस पर लगाया। लोकेशन चिनहट का मिलने पर पुलिस ने संतराम को गिरफ्तार कर लिया।”

उन्होंने बताया कि आरोपी विकलांग है और आए दिन पुलिस को फोन कर परेशान करता था। खुद को मुख्यमंत्री सचिव बताने के कारण पुलिस पहले उसकी बात को गंभीरता से लेती रही। उसने अब तक कई थानेदारों के साथ जालसाजी की घटना को अंजाम दिया है।

पहली जांच में मालूम हुआ है कि संतराम अपने ममेरे भाई संदीप से कई थानेदारों को फोन करवाकर फर्जी मुकदमे लिखवाता था और पीड़ितों से उगाही करता था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button