बॉम्बे हाई कोर्ट ने आर्यन की जमानत याचिका पर सुनवाई कल के लिए की स्थगित

मुंबई: बॉम्बे हाईकोर्ट ने ड्रग्स मामले में मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को जमानत देने की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी।

आर्यन की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता और भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा कि चूंकि कोई वसूली या खपत नहीं हुई है, इसलिए आर्यन को गलत तरीके से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि आर्यन खान पिछले 23 दिनों से बिना किसी सबूत के जेल में बंद है।

रोहतगी ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि आर्यन के फोन से बरामद व्हाट्सएप चैट रिकॉर्ड में नहीं हैं, लेकिन उनका हवाला दिया गया है, उनमें से कोई भी चैट क्रूज पार्टी से संबंधित नहीं है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने आर्यन की जमानत अर्जी का विरोध किया था और कहा था कि एजेंसी को अंतरराष्ट्रीय क्रूज शिप ड्रग रैकेट का पता लगाने के लिए समय चाहिए क्योंकि अगर आर्यन को जमानत दी जाती है तो वह जांच की प्रक्रिया को प्रभावित कर सकता है।

इससे पहले बुधवार को मुंबई की एक विशेष अदालत ने ड्रग्स की जब्ती के मामले में आर्यन और दो अन्य को जमानत देने से इनकार कर दिया था. इसके बाद, आर्यन खान ने अपनी जमानत खारिज होने पर एनडीपीएस अदालत के आदेश के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की।

एनसीबी की एक टीम ने 2 अक्टूबर को समुद्र के बीच में गोवा जा रहे एक क्रूज जहाज पर एक कथित ड्रग पार्टी का भंडाफोड़ किया। इस मामले में अब तक दो नाइजीरियाई नागरिकों सहित कुल 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Related Articles