IPL
IPL

इतिहास की देन है सीमा विवाद, भारत के संबंधों को लेकर वांग यी ने दिया बड़ा बयान

बीजिंग: भारत-चीन (India-China) संबंधों के मौजूदा हालातो के बीच चीनी विदेशी मंत्री वांग यी ने रविवार को बड़ा बयान दिया है कि दोनों देशो को सीमा मुद्दे का हल एक-दूसरे को नुकसान पहुंचाए बिना करना चाहिए। इसके आगे उन्होंने कहा, भारत और चीन (India-China) का मौजूदा रिश्ता पूरी तरह से सीमा विवाद के लिए जिम्मेदार नहीं, ये दोनों देश एक तरह से मित्र और साझेदार है, इसलिए एक दूसरे पर बिलकुल भी संदेह न करें।

इतिहास की देन है विवाद

साल 2020 के मई महीने में पूर्वी लद्दाख में हुए सीमा गतिरोध के बाद से अब तक भारत-चीन संबंधों की मौजूदा हालात पर पूछे गए एक सवाल में विदेशी मंत्री वांग यी ने जवाब देते हुए कहा, दोनों देशो के लिए सबसे जरुरी है कि अपने विवादों का निपटारा कर ले सिर्फ इतना ही नहीं द्विपक्षीय सहयोग का भी विस्तार करें। उन्होंने कहा, ‘‘भारत-चीन का रिश्ता पूरी तरह से सीमा विवाद के लिए जिम्मेदार नहीं है, ये सीमा विवाद तो इतिहास की देन है।’’

ये भी पढ़ें : Sunil Grover की रसोई में बंदर का धावा, वीडियो शेयर कर कही यह बात!

पूर्वी लद्दाख के मामले पर कुछ नहीं कहा

चीन की संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के वार्षिक सत्र से अलग संवाददाता सम्मेलन में वांग यी ने कहा, सबसे जरुरी है कि दोनों देश अपने विवाद का निपटारा करके सहयोग बढ़ाएं, ताकि मुद्दों के हल के लिए अनुकूल स्थिति बन सके।’’ उन्होंने दोनों देशों के बीच 10 दौर की सैन्य स्तर की वार्ता के बाद पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के उत्तरी एवं दक्षिणी तटों से सैनिकों के हाल ही में पीछे हटने के विषय पर कुछ नहीं कहा।

ये भी पढ़ें : PM मोदी पर जमकर गरजीं प्रियंका, कहा- ‘ये जो 3 कानून हैं, क्या आपके भलाई के लिए बनाएं गए हैं’

Related Articles

Back to top button