भाई-बहन दोनों को हो गया था एक दुसरे से प्यार, लेकिन उसके बाद जो हुआ …

कहते है प्यार अँधा होता है और समय समय पर निकलती ऐसी खबरे इस बात को सपष्ट कर देती है, प्यार होना किसी से गलत नहीं लेकिन उस प्यार में आपका दिमाग कितना काम करता है इसपर निर्भर करती है आपकी ज़िन्दगी, अगर आपसे कोई गलती अनजाने में हो भी जाती है तो कोई बड़ी बात नहीं क्योंकि गलती हर इंसान से होती है लेकिन अगर उसमें सुधार कर लिया जाए या फिर अपने परिवार के बड़ों से इस मसले को साझा करें तो उसका हल निकल जाता है. लेकिन कुछ लोग आत्महत्या को सरल राह समझ के जीवनलीला समाप्त कर लेते हैं. उसका परिणाम होता है कि पूरा परिवार जीवनभर रोता है. एक ऐसा भी बेहद चौंकाने वाला मामला भिवानी से सामने आया. जिसे जानकार सभी होश उड़ गए.

बता दें कि भिवानी में कथित प्रेम-प्रसंग के कारण चचेरे भाई-बहन ने सिवाना गांव में बने एक मंदिर के कमरे में फांसी का फंदा लगाकर कथित तौर पर खुदकुशी कर ली. पुलिस ने बताया कि युवती ने 12वीं की परीक्षा दी थी जबकि बीए पास युवक हरियाणा दिव्यांग क्रिकेट टीम का सदस्य था. दोनों एक अप्रैल से घर से लापता थे. पुलिस को दोनों की कथित खुदकुशी की जानकारी मिली. युवक और युवती एक ही मोहल्ले के निवासी थे. दोनों चचेरे भाई बहन थे. एक अप्रैल से लापता बताए जा रहे थे. इस संबंध में परिजन ने गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करवा रखी थी.

सिवाना गांव के बाहरी क्षेत्र में बने एक मंदिर में पूजा अर्चना के लिए एक युवक जब पहुंचा और मंदिर का दरवाजा खोलकर अंदर दाखिल हुआ तो युवक-युवती के शव फांसी के फंदे पर लटके मिले। उसने तुरंत इस मामले की सूचना सरपंच वजीर सिंह और पुलिस को दी. मृतकों की शिनाख्त सिवाना निवासी 18 वर्षीय युवती अनीता और उसके पड़ोसी 25 वर्षीय युवक कुलवंत के रूप में हुई. रात 11 बजे डीएसपी व एसएचओ बवानीखेड़ा मौके पर पहुंचे. पुलिस ने मौके पर एफएसएल की टीम को बुलाकर जांच की. 

Related Articles