परिवहन मंत्रालय और आईआईटी बीएचयू साथ मिल कर करेंगे काम, दोनों ने करार

0

वाराणसी: आईआईटी बीएचयू अब सड़क परिवहन व राजमार्ग के मानक तय करेगा। इसके लिए आईआईटी बीएचयू तथा सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के बीच करार हुआ है। इसके तहत सड़क सुरक्षा इंजीनियरिंग, राजमार्ग के विकास, रखरखाव और संचालन के क्षेत्र में मदद के लिए समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया गया। तकनीकी उन्नयन और नई तकनीक की शुरुआत को लेकर काम होगा।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से नई दिल्ली के विज्ञान भवन में 11 से 17 जनवरी तक 31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) बीएचयू के निदेशक प्रो. प्रमोद कुमार जैन और महानिदेशक (सड़क विकास) एवं विशेष सचिव आईके पांडेय ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया। इस अवसर पे केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, राज्यमंत्री सड़क परिवहन एवं राजमार्ग जनरल डॉ. वीके सिंह उपस्थित रहे।

प्रो. पीके जैन ने कहा कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय राजमार्ग तकनीक और नवाचार पेश करने के लिए उद्योग और अकादमिक संपर्क के सांस्कृतिक विकास को बढ़ावा देना चाहता है। मंत्रालय ने संस्थान में इस संदर्भ में एक ‘ऑनरेरी चेयर’ स्थापित करने का भी निर्णय लिया है।

प्रो. जैन ने बताया कि संस्थान और भारतीय शिक्षाविद् एक साथ राजमार्ग सुरक्षा विकास परियोजना के अंतर्गत सड़क सुरक्षा, पर्यावरण एवं सामाजिक प्रभावों से संबंधित अध्ययन करेंगे। संस्थान राजमार्ग विकास के लिए मानकों, दिशा-निर्देशों, सेमिनार, प्रशिक्षण एवं प्रयोग पुस्तिका के माध्यम से राजमार्ग विकास की योजना, निर्माण, संचालन एवं रखरखाव से संबंधित प्रौद्योगिकी उन्नयन का विस्तार करेगा।

मंत्रालय की ओर से चुने हुए विषयों पर संस्थान शोध कार्यक्रम भी आयोजित करेगा। मंत्रालय के अधिकारियों को शोध कार्यक्रमों में भाग लेने, राजमार्ग जागरूकता से संबंधित कार्यशाला, सम्मेलन कराने, अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों में परामर्श देने पर भी सहमति हुई।

loading...
शेयर करें