पीड़िता और रेपिस्ट दोनों नेत्रहीन, फिर भी कर डाला रेप, अपने आप में अनोखा है ये मामला

0

गुड़गांव। रेप की खबरें तो आए दिन आती रहती हैं, लेकिन आज हम आपको एक अनोखे केस के बारे में बताने जा रहे हैं। इस केस में पीड़िता और दोषी दोनों ही नेत्रहीन हैं। पीड़िता ने आरोपी की आवाज़ से उसकी पहचान की जिसके बाद कोर्ट 24 जुलाई को सजा सुनाने का ऐलान किया है।

नेत्रहीन महिला

नेत्रहीन महिला को शादी का झांसा देकर पांच महीने तक करता रहा रेप

पीड़िता ने अपने बयान में कहा, ‘2014 में हुई अपने पति की मौत के बाद मैं एक वकील करना चाहती थी। हालांकि, इसे आत्महत्या बताया जा रहा था पर मुझे उनकी मौत के पीछे किसी की साजिश मालूम होती थी। मैं इस मामले में जांच करवाना चाहती थी और इसिलए एक वकील से परामर्श लेना चाहती थी। मेरी एक दोस्त ने मुझे सौरभ से मिलाया। सौरभ मुझे एक वकील से मिलाने वाला था, जो इस मामले में मेरी मदद कर सकता था।’

30 मई 2015 को सोरभ महिला को वकील से मिलाने गुड़गांव लेकर गया। वह वकील से पास ले जाने के बजाय पीड़िता को एक फार्म हाउस में लेकर गया। महिला ने कोर्ट को बताया कि फार्म हाउस में सौरभ ने उसका रेप किया।

उस दौरान जब महिला घबरा कर रोने लगी तो आरोपी ने उसे शादी का झांसा दिया, जिसके बाद वो महिला को पांच महीने तक शादी के नाम पर यौन शोषण करता रहा और बाद में मुकर गया।

loading...
शेयर करें