मिल्ट्री के प्रदर्शन के बावजूद Brazil Congress ने वोटिंग में परिवर्तन को किया ख़ारिज

रिओ दे जेनेरिओ  : Brazil Congress के निचले सदन ने सशस्त्र बलों द्वारा सैन्य ताकत के असामान्य प्रदर्शन के बावजूद, मंगलवार को देश की मतदान प्रणाली को बदलने के लिए राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो की योजना को नाकाम कर दिया। इस दौरान सभी धारियों के राजनेताओं ने नौसेना के टैंकों, बख़्तरबंद कर्मियों के वाहक और मिलिट्री वाहनों की परेड को को लोकतंत्र को डराने-धमकाने का एक रूप कहा।

Brazil Congress: मिलिट्री बुलाना राष्ट्रपति की साजिश

इस कड़ी में नौसेना ने बयान जारी कर अपनी सफाई में कहा कि इस परेड की योजना कांग्रेस के निचले सदन में होने वाले मतदान से बहुत पहले से बनाई गई थी और इसका मकसद रविवार को होने वाले एनुअल सैन्य अभ्यास में राष्ट्रपति को आमंत्रित करना था। हमारा मकसद वोटिंग या कांग्रेस की कार्यवाही में दखल देना नहीं था। हालाँकि राष्ट्रपति के मीडिया कार्यालय ने परेड पर टिप्पणी करने के मीडिया के अनुरोध का अब तक कोई जवाब नहीं दिया है।

यह भी पढ़ें : इटली को Tunisia के राजनीतिक संकट से माइग्रेंटस के बढ़ने की आशंका

ब्राज़ीलियाई डेमोक्रेटिक मूवमेंट पार्टी के सीनेटर सिमोन टेबेट ने सोशल मीडिया पर कहा, “सड़क पर टैंक का उतरना वह भी ठीक उसी दिन जिस दिन पेपर बैलेट संशोधन पर वोट होता है, असल में लोकतंत्र के खिलाफ एक साजिश थी जिसे कांग्रेस ने नाकाम कर दिया।

यह भी पढ़ें : शिल्पा और उनकी मां ने लखनऊ में लगाया करोड़ो का चूना, घर पहुंची यूपी पुलिस

 

Related Articles