पत्नी ने शादी के रस्मो को तोड़ा, प्रेमी संग पति को उतारा मौत के घाट, कार से खुला राज़

लखनऊ: यूपी की राजधानी लखनऊ के मड़ियांव इलाके में बीते 24 अगस्त को आईआईएम रोड के किनारे पड़े मिले 27 साल के आशुतोष सिंह के शव में मामले में पुलिस बड़ा खुलासा किया है। आशुतोष सिंह के शव का पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया था जिसमे गोली मारकर हत्या करने की बात सामने आई थी। हत्या के मामले का खुलासा करने में जुटी मड़ियांव पुलिस घटनास्थल आईआईएम रोड पर पहुंची, जहां पर शव मिला था उसके कुछ दूरी पर सड़क के किनारे एक दुर्घटनाग्रस्त ब्रेजा कार खड़ी मिली थी। पूछताछ में पता चला कि डिवाइडर से टकराने के बाद कार चला रहा व्यक्ति सड़क के किनारे कार छोड़ कर भाग गया था।

कार को बरामद करने के बाद पुलिस ने कार नंबर से मालिक पता लगाया तो पता चला कि कार मालिक इटावा का रहने वाला हेमेंद्र प्रताप यादव था। करीब डेढ़ महीना पहले ही आशुतोष की प्रीति से शादी हुई थी। प्रीति हरदोई में एक सरकारी स्कूल में टीचर थी और हेमेंद्र इटावा में।

पुलिस को शुरुआती जानकारी के लिए दोनों के मोबाइल नंबर की सीडीआर निकाली, तो हेमेंद्र और प्रीति में लगातार बात होती थी। इस पर पुलिस का शक बढ़ने लगा फिर पुलिस ने प्रीति और हेमेंद्र से उनके संबंधों के बारे में पूछताछ की तो पता चला कि वह दोनों ही सरकारी टीचर हैं। कुछ समय पहले तक दोनों उन्नाव जिले के औरास में एक साथ ही तैनात थे।

शादी से पहले से दोनों में था अफेयर

पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो पता चला कि उन्नाव में तैनाती के दौरान ही प्रीति और हेमेंद्र यादव के बीच प्रेम संबंध हो गया था। इसी साल की शुरुआत में हेमेंद्र का ट्रांसफर इटावा और प्रीति का ट्रांसफर हरदोई हो गया था। बीते जुलाई में प्रीति की शादी एक प्राइवेट डायग्नोस्टिक सेंटर के पीआरओ आशुतोष सिंह से हुई थी। इसके बाद प्रीति और हेमेंद्र में बातें काफी कम हो गई थी, लेकिन प्रीति अपने पति आशुतोष से संतुष्ट नहीं थी, लिहाजा दोनों में अनबन होती रहती थी। प्रीति यह बातें अपने साथी टीचर सुनील कुमार को बताती थी, सुनील कुमार ने यह सारी जानकारी हेमेंद्र को दे दी।

आशुतोष को रास्ते से हटाने का बनाया खतरनाक प्लान

फिर प्रीति और हेमेंद्र ने आशुतोष को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। हेमेंद्र ने आशुतोष को एक बड़ी दवा सप्लाई दिलाने का लालच देकर 23 अगस्त की शाम को बुलाया। अपनी ब्रेजा कार में बिठाकर हेमेंद्र ने कुछ दूर तक आशुतोष को घुमाता रहा और एक सुनसान इलाके में अपनी कार रोक कर हेमेंद्र ने तमंचे से आशुतोष को गोली मार दी। इसके बाद आशुतोष की लाश को कार को सड़क पर गिरा कर मौके से फरार हो गया। लेकिन हड़बड़ी में भागते समय हेमेंद्र की कार रोड डिवाइडर से टकरा गई। घबराया हेमेंद्र कार को सड़क के किनारे खड़ी कर भाग निकला।

कार से हत्या का हुआ पर्दाफाश

पुलिस के हाथ यह कार लगी जिसे पुलिस ने सोचा यह एक्सीडेंट हुई कार है, लेकिन गहराई से छानबीन पर आशुतोष की हत्या का खुलासा हो गया। एडीसीपी नॉर्थ प्राची सिंह ने बताया कि पुलिस ने आशुतोष की पत्नी प्रीति उसके प्रेमी हेमेंद्र यादव और हेमेंद्र के दोस्त सुनील को हत्या और हत्या की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। हत्या में इस्तेमाल तमंचा और ब्रेजा कार भी बरामद हो गई है।

Related Articles