शादी के सिर्फ 7 दिन बाद दुल्‍हन बन गई मां फिर…

008862e1-7eb1-4997-9425-4956a867cb34हाजीपुर बिहार के वैशाली जिले के सराय गांव में उस वक्त अजीब स्थिति बन गई, जब शादी के बाद महज सात दिन बाद एक दुल्हन मां बन गई। जबरन उठाकर करवाई गई इस शादी से नाराज पति ने दुल्हन को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है। वहीं, दुल्हन का कथित प्रेमी इस वाकये के बाद फरार बताया जा रहा है।

ज़बरन कराई शादी में मुंह तक नहीं देखा था दूल्हे ने

सराय निवासी अभय कुमार ने बताया कि गत एक सप्ताह पहले उसे जबरन उठाकर मुजफ्फरपुर के सकरा थाना क्षेत्र के मनोहर पट्टी गांव में उसकी शादी की गई थी। उसने लड़की का मुंह तक नहीं देखा था। दुल्हन पक्ष वालों ने शादी के पहले कुछ भी नहीं बताया। जब दुल्हन सराय पहुंची तो पता चला कि वह गर्भवती है। शादी के ठीक सात दिन बाद दुल्हन ने एक लड़के को जन्म दिया।

धमकी दे रहे हैं लड़की वाले

अभय के अनुसार दुल्हन पक्ष वाले उसके परिवार को बार-बार धमकी देकर दुल्हन को रखने की बात कर रहे हैं। धमकी के डर से अभय उसका परिवार अब तक तो किसी तरह दुल्हन को रखे हुए है, लेकिन अब वह भी अपनी सामाजिक प्रतिष्ठा को लेकर चिंतित है। वहीं, ससुराल वालों के निर्णय को सुन कर दुल्हन की जुबान खामोश होती जा रही है। उसका कथित प्रेमी बाबू साहब राय पहले ही धोखा देकर भाग चुका है।

कोर्ट जाएगा अभय

जबरन शादी के शिकार अभय ने बताया कि वह इस शादी से खुश नहीं है। उसे अगवा किया गया था और जबरदस्ती शादी कर दी गई थी। लड़की पहले से ही गर्भवती है इस बात की जानकारी छिपाई गई थी। अपने साथ हुए अन्याय को लेकर अभय अब न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगा और उस दुल्हन से तलाक की अपील करेगा। उधर दुल्हन से जब इस संबंध में पूछा गया तो वह खामोश हो कर देखती रही। वह कुछ भी बोलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रही थी।

फरार है प्रेमी

बताया गया कि दुल्हन को अपने मायका में ही एक दूध व्यापारी से प्रेम हो गया था। दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ा। और दोनों एक दूसरे को रोक नहीं पाए। अब हालात यह है कि प्रेमी बाबूसाहब राय घर छोड़कर फरार हो गया है। दुल्हन के गांव में जब यह बात फैलने लगी तो उसकी आनन-फानन में शादी अभय के कर दी गई।

बक्सामा से हुआ था अभय का अपहरण

विगत 19 दिसंबर की शाम को महुआ थाने के बक्सामा गांव से अभय को अगवा किया था। अपहरण के बाद शादी से जब इनकार किया तो उसे पीटा गया। जबरन शादी के लिए उसे तैयार किया गया। उसके बाद 20 दिसंबर को अभय की शादी कर उसके घर तक दुल्हन के साथ पहुंचाया गया। शादी के बाद अभय उसके पुरे परिवार को धमकी दी गई कि अगर दुल्हन को छोड़ने की बात आई तो अच्छा नहीं होगा।

दुल्हन को लेने आया भाई

जब नवजात शिशु की तबियत बिगड़ी तो उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। दुल्हन के फुफेरे भाई संजीव को बुला कर अभय ने अपना निर्णय सुना दिया। उसके बाद संजीव अपनी बहन को लेकर चला गया। इस दौरान दोनों पक्ष के बीच कई बार नोक-झोंक भी हुई, लेकिन लोगों ने सुलझा दिया। दुल्हन के भाई ने बताया कि आगे क्या करना है इसका विचार हमलोग पारिवारिक तौर करेंगे।

 

(दैनिक भास्‍कर से साभार)

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button