ब्रिटेन ने हमास को घोषित किया आतंकी संगठन

नई दिल्ली: ब्रिटेन की सरकार द्वारा हमास को आतंकी संगठन घोषित कर दिया गया है हमास को आतंकी संगठन घोषित किए जाने के बाद प्रतिक्रियाओं का सिलसिला जारी है और हालात ख़राब होने के इशारे मिलने लगे हैं।

हमास के नेता ख़लील हय्या ने कहा कि हमास को आतंकी संगठन घोषित कारण करने के बाद इस्राईल से कोई जंग छिड़ जाती है तो इसकी सारी ज़िम्मेदारी लंदन सरकार की होगी। उन्होंने कहा कि इस फ़ैसले का खंडन करने के लिए हमास विश्व समुदाय से संपर्क जारी रखे हुए है साथ ही उन्होंने ब्रिटेन की संसद से मांग की है कि वह इस मामले से संबंधित प्रस्ताव को पारित न करे।

हमास ने ब्रितानी गृह मंत्री की थी निंदा

इससे पहले हमास ने अपने एक बयान में ब्रितानी गृह मंत्री प्रीति पाटिल द्वार जारी किए गए इस फ़ैसले की निंदा की थी और कहा था कि लंदन सरकार फ़िलिस्तीनी जनता पर किए गए अपने अत्याचारों पर माफ़ी मांगने के बजाए हमलावरों का साथ दे रही है।

जाने क्या कहा हमास ने

हमास ने कहा कि हथियारबंद कार्यवाही सहित प्रतिरोध के सारे तरीक़ो को आज़माना फ़िलिस्तीनियों का अधिकार है जबकि किसी धरती के असली निवासियों को बलपूर्वक विस्थापित करना और उन पर तथा उनके पवित्र स्थलों पर हमला करना असली आतंकवाद है।

लंदन में फ़िलिस्तीन के दूतावास ने भी ब्रिटेन के इस फ़ैसले की निंदा की और कहा कि ब्रिटेन का यह फ़ैसला अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन है।

इस बीच फ़िलिस्तीनी संगठनों ने शनिवार को इसी विषय का जायज़ा लेने के लिए अपात बैठक बुलाई है।

जेहादे इस्लामी संगठन ने भी ब्रिटेन के फ़ैसले की निंदा करते हुए कहा कि प्रतिरोध तो फ़िलिस्तीनी जनता का क़ानूनी अधिकार है।

संयुक्त राष्ट्र संघ का कहना है कि ग़ज़्ज़ा में प्रशासनिक अधिकारियों से उसका संपर्क और सहयोग जारी रहेगा। ग़ज़्ज़ा हमास का गढ़ माना जाता है।

यह भी पढ़ें:नागरिकों के शव लौटाए गए, कश्मीर में तनाव और आक्रोश का माहौल

Related Articles