बॉर्डर पार से आये कबूतर को BSF ने पकड़ा, पंखों पर लिखें है नंबर, जांच जारी

भारत पाकिस्तान की सीमा से सटे जैसलमेर की इंटरनेशनल बॉर्डर पर (BSF) के जवानों ने सरहद पार से आये एक कबूतर को पकड़ा है,

नई दिल्ली: कबूतर प्राचीन समय में किसी सन्देश को एक जगह से दूसरे जगह तक पहुंचाने के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाते थे. लेकिन तब इन्टरनेट और फ़ोन जैसी सुविधाएं नहीं थी. आज जब ये सारी सुविधाएं मौजूद है तो क्या ऐसे में किसी संदेश को कहीं पहुंचाने के लिए कबूतर का इस्तेमाल किया जा सकता है. शायद नहीं, लेकिन भारत पाकिस्तान की सीमा से सटे जैसलमेर की इंटरनेशनल बॉर्डर पर (BSF) के जवानों ने सरहद पार से आये एक ऐसे कबूतर को पकड़ा है, जिसकी पंख पर नंबर लिखा हुआ है.

 पाकिस्तानी सीमा से उड़कर आए कबूतर के पंखों पर लिखे नंबर्स  (फोटो आजतक)

कबूतर के पंख पर लिखे नंबर को देखने के बाद अब यह जांच की जा रही है कि कबूतर किसी साजिश के तहत भारतीय सीमा में भेजा गया है, या फिर यह पक्षियों को लेकर किसी स्टडी का हिस्सा है. फिलहाल बीएसएफ के जवान हाई अलर्ट पर है और बॉर्डर के आस पास कड़ी निगरानी की जा रही है.

गश्त के दौरान पड़ी नजर

देर शाम राजस्थान में जैसलमेर के शाहगढ़ बल्ज से सटी इंटरनेशनल  बॉर्डर पर बीएसएफ (BSF) की 18वीं बटालियन के जवान पहरा दे रहे थे, इस दौरान जवानों की नजर एसकेडी के सीमा स्तंभ 718/3 के पास गई. यहां जवानों को झाड़ियों के पीछे एक कबूतर दिखाई दिया, जिसके बाद के बीएसएफ जवानों ने इस कबूतर को पकड़ लिया.

बीएसएफ की जांच जारी

पकडे गए कबूतर के दोनों पैरों पर टैग लगाया गया है, जिस पर 27, 32 और 15 अंक लिखे हुए हैं. वहीं इसके पंखों में 230 जीपीएस, 150 जीपीएस, 310 जीपीएस लिखा हुआ है. अब बीएसएफ (BSF) इस बात की जांच कर रही है कि यह कोई साजिश है या पकड़ा गया कबूतर किसी पक्षी स्टडी का हिस्सा है.

नापाक हरकतों के लिए जाना जाता है पाक

पाकिस्तान इस तरह की हरकतें पहले भी करता रहा है. ऐसे में बीएसएफ के जवानों का शक करना बिलकुल लाजमी है. अब ये बात तो जांच के बाद ही खुलकर सामने आएगी कि कबूतर सामान्य कबूतर था या फिर पड़ोसी देश की किसी नापाक साजिश का हिस्सा.

यह भी पढ़ें: राजनीति में मची हलचल, प्रियंका गांधी के करीबी ने इन्हें दिया सीएम बनने का आशीर्वाद

Related Articles

Back to top button