दलित बच्ची का शव मिलने पर बसपा नाराज, मायावती ने निष्पक्ष जांच की मांग

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक धान के खेत से चार साल की दलित बच्ची का शव मिलने पर बसपा अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को गंभीर चिंता जताई और उचित जांच के बाद परिवार के लिए न्याय की मांग की।

आपको बता दें कि बच्ची का शव सोमवार दोपहर धान के खेत से बरामद किया गया। पीड़िता के परिवार के सदस्यों और अन्य ग्रामीणों के अनुसार वह रविवार शाम से लापता थी। ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया है कि हत्या से पहले लड़की का यौन उत्पीड़न भी किया गया था।

मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा कि अलीगढ़ जिले में एक दलित मासूम बच्ची का शव धान के खेत में पड़ा मिला। परिवार वालों ने इसे दुष्कर्म के बाद हत्या का अंदेशा जताया है। यह घटना अति गम्भीर व दुखद है। सरकार इस मामले की सही से जाँच कराकर पीड़ित परिवार को ज़रूर न्याय दे, बीएसपी की यह माँग है।

खबरों के मुताबिक, थाना गोंडा इलाके के गांव नगला बिरखू में 4 वर्षीय लापता बच्ची का शव धान की फसल के बीच खेतों में पड़ा मिला। परिजनों ने लापता बच्ची के गुमशुदगी रविवार को गोंडा थाने में दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ढूंढ नही सकी। रविवार को दर्ज कराई गई गुमशुदगी के बाद लापता 4 साल की बच्ची का शव रविवार को उसके घर से करीब 400 मीटर दूर धान की फसल के बीच भरे पानी में पड़ा मिला। मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और वहीं फॉरेंसिक टीम घटनास्थल से साक्ष्य जुटा रही है।

Related Articles