राष्ट्रपति के अभिभाषण का बायकॉट (Boycott) करेगी बसपा

दिल्ली में लाल किले हिंसा को लेकर बहुजन समाज (बसपा) पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है, राष्ट्रपति के संसद में होने वाले अभिभाषण का बहिष्कार करेगी बसपा पार्टी

लखनऊ: दिल्ली में हुए लाल किले हिंसा को लेकर बहुजन समाज (बसपा) पार्टी की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि आंदोलित किसानों के तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की माँग नहीं मानने और जनहित आदि के मामलों में भी लगातार काफी ढुलमुल रवैया अपनाने के विरोध में बसपा पार्टी राष्ट्रपति के संसद में होने वाले अभिभाषण का बहिष्कार करेगी।

अभिभाषण का बहिष्कार

बसपा (BSP) पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने ट्वीट कर कहा कि बी.एस.पी. ने, देश के आन्दोलित किसानों के तीन विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने की माँग नहीं मानने व जनहित आदि के मामलों में भी लगातार काफी ढुलमुल रवैया अपनाने के विरोध में, आज मा. राष्ट्रपति के संसद में होने वाले अभिभाषण का बहिष्कार करने का फैसला लिया है।

यह भी पढ़ेप्रियंका गांधी अपने भाई को लेकर जायें नानी के घर: केशव प्रसाद मौर्य

‘बलि का बकरा न बनाए’

इसके साथ ही मायावती ने कहा कि कृषि कानूनों को वापस लेकर दिल्ली आदि में स्थिति को सामान्य करने का केन्द्र से पुनः अनुरोध तथा गणतंत्र दिवस के दिन हुए दंगे की आड़ में निर्दोष किसान नेताओं को बलि का बकरा न बनाए। इस मामले में यूपी के बीकेयू व अन्य नेताओं की आपत्ति में भी काफी सच्चाई। सरकार ध्यान दे।

बीएसपी ने केन्द्र सरकार द्वारा काफी अपरिपक्व तरीके से लाए गए नए कृषि कानूनों का संसद में व संसद के बाहर हमेशा विरोध किया है। देश के गरीबों, दलितों व पिछड़ों आदि की तरह किसानों के शोषण व अन्याय के विरूद्ध व इनके हक के लिए भी बीएसपी हमेशा आवाज उठाती रहेगी।

यह भी पढ़ेDelhi के ये रास्ते आज रहेंगे बंद, हर तरफ पुलिस फोर्स तैनात

Related Articles

Back to top button