नवाज शरीफ के बाद बुखारी ने राजनाथ को लिखा पत्र, मुस्लिमों के लिए की ये ख़ास मांग

0

नई दिल्ली: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बाद अब जामा मस्जिद के इमाम सैयद अहमद बुखारी ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को भी एक पत्र भेजा है। बीते दिन जहां बुखारी ने नवाज शतीफ को पत्र लिखकर हुर्रियत कांफ्रेंस संग बातचीत करने की सलाह दी थी। वहीं अब उन्होंने राजनाथ को पत्र लिखकर भैंस और बकरे को ले जाने वालों पर हो रहे हमलों का मुद्दा उठाया है। उन्होंने अपने पत्र के माध्यम से अपील की है कि केंद्र सरकार यह सुनिश्चित करे कि ईद-उल-अज़हा के मौके पर कुर्बानी के लिए भैंस और बकरे ले जा रहे लोगों पर हमला नहीं हो।

जामा मस्जिद के इमाम

जामा मस्जिद के इमाम ने राजनाथ को पत्र लिखकर मांगी सुरक्षा

जामा मस्जिद के इमाम ने कहा कि इन दिनों गौरक्षा के नाम पर लोगों की हत्या और हिंसा की बढ़ती घटनाओं से हालात गंभीर हो गए हैं। देश के इस माहौल के मद्देनजर ऐसी प्रबल आशंका है कि मवेशियों को बाजार लेकर जा रहे लोगों को हिंसा का निशाना बनाया जाए।

बुखारी ने अपनी चिट्टी में लिखा कि हम गाय की कुर्बानी देने के पक्ष में नहीं हैं। गाय से एक खास धार्मिक समुदाय की भावनाएं जुड़ी हैं। हम उनकी धार्मिक संवेदनाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन यदि पशुओं की रक्षा के नाम पर भैंस और बकरे ले जाने वालों पर हमला होता है तो देश की शांति में खलल पड़ेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि ईद-उल-अज़हा के मौके पर पशुओं की कुर्बानी मुस्लिम आस्था का अभिन्न हिस्सा है। इस प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए। उन्होंने सरकार से अपील की कि वह पुलिस-प्रशासन को निर्देश दे कि पशुओं को लाने-ले जाने के कारोबार में लगे मुस्लिमों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराई जाए।

इसके अलावा बुखारी ने उन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है जो गौहत्या के नाम पर लोगों को दरिंदगी का शिकार बना रहे हैं।

आपको बता दें कि बीते दिन जामा मस्जिद के इमाम ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भी पत्र लिखा था। उन्होंने ये पत्र कश्मीर में शांति का माहौल बनाए रखने के लिए लिखा था। उस पत्र में उन्होंने कहा था कि वह कश्मीर मसले पर अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर हुर्रियत नेताओं से बातचीत करें। बुखारी ने हाथों में हथियार उठाए लोगों से अपील करते हुए कहा कि उन्हें हथियार छोड़ देना चाहिए, जिससे कि एक शांतिपूर्ण वातावरण में बातचीत का सिलसिला शुरु हो सके।

loading...
शेयर करें