कोविड-19 नियम का पालन करते हुए बुलंदशहर उपचुनाव में 52.56 फीसदी मतदान

उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर की सदर विधानसभा सीट के उपचुनाव में मंगलवार को 52 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर की सदर विधानसभा सीट के उपचुनाव में मंगलवार को 52 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान के साथ ही 18 उम्मीदवारों का भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बंद हो गया। मतदान का कार्य सुबह सात बजे धीमी गति से शुरू हुआ जबकि शाम छह बजे तक तीन लाख 78 हजार 508 मतदाताओं में से 52.56 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया।

मतदान की विशेष बात यह रही कि नगरीय क्षेत्र के स्थान पर ग्रामीण क्षेत्र में अपने मताधिकार का प्रयोग करने वाले मतदाताओं की संख्या अधिक रही। जिला प्रशासन ने शांतिपूर्ण वातावरण में निष्पक्ष मतदान के लिए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए थे। कोरोना महामारी के मद्देनजर प्रत्येक मत देयस्थल पर वोट डालने आने वाले मतदाताओं की पहले थर्मल स्कैनर की गई और सैनिटाइजर करने के बाद ही उसे बूथ मे प्रवेश की अनुमति दी गई। मतदाताओं सहित पुलिस बल और मतदान कर्मी भी कोविड-19 नियम का पालन करते नजर आए। निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण वातावरण में मतदान कराने के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र पर भारी सुरक्षा बल तैनात रहा।

ये भी पढ़े : एमवे अपनी डिजिटल क्षमता निखार पर करेगी 150 करोड़ रुपए निवेश

जिला निर्वाचन अधिकारी रविंद्र कुमार एसएसपी संतोष कुमार सिंह सभी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान केंद्रों का भ्रमण करते रहे। गौरतलब है कि 2017 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर लगभग 65 प्रतिशत वोट पड़े थे। भाजपा के विरेंद्र सिंह सिरोही ने बसपा के मौजूदा विधायक हाजी अलीम को लगभग 24000 वोटों से पराजित किया था। सिरोही के निधन से रिक्त हुई सीट पर भाजपा ने उनकी पत्नी ऊषा सिरोही को तो बसपा ने इस सीट से दो बार विधायक रहे हाजी अलीम के भाई हाजी युनुस को मैदान मे उतारा है।

Related Articles

Back to top button