पराली जलाना दण्डनीय अपराध, 18 किसानों पर एफआईआर

जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय ने यहां कहा कि सर्वोच्चय न्यायालय व सरकार के निर्देशानुसार फसल अवशेष, कृषि अपशिष्ट, पराली, गन्ने की सूखी पत्ती खेतो में जलाना एक दण्डनीय अपराध है

 

बहराइच : उत्तर प्रदेश के बहराइच ज़िले में खेतों में पराली जलाने के आरोप में आज बुधवार को 18 किसानों पर एफआईआर दर्ज करायी गयी है। इसके अलावा कम्बाईन मशीन के साथ सुपर स्ट्रा रिपर न लगाये जाने के कारण पांच कम्बाईन मशीनों को सीज भी कर लिया गया है। जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय ने यहां कहा कि सर्वोच्चय न्यायालय व सरकार के निर्देशानुसार फसल अवशेष, कृषि अपशिष्ट, पराली, गन्ने की सूखी पत्ती खेतो में जलाना एक दण्डनीय अपराध है।

ये भी पढ़े : ललितपुर: चार बच्चों की हत्या मामले में CM योगी दुखी, प्रशासन को दिए आदेश

फसल अवशेष जलाये जाने की घटनाओं पर अंकुश लगाये जाने के मद्देनजर निगरानी की जा रही है। उन्होनें कहा कि 18 किसानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है। जिसमें तहसील सदर व मिहीपुरवा में 05-05 तथा तहसील नानपारा में 08 विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। इसके अलावा कम्बाईन मशीन के साथ सुपर स्ट्रा रिपर न लगाये जाने के कारण तहसील सदर व नानपारा में 02-02 तथा मिहीपुरवा में 01 कुल 05 कम्बाईन मशीनों को सीज भी किया गया है।

Related Articles