ताजमहल के अंदर अखिलेश ने ये क्‍या कर डाला

आगरा। आगरा में पहले एनआरआई डे पर यूपी के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव का एमओयू का ताजमहल पर री-प्‍ले करना सर्वोच्‍च न्‍यायालय के नियमों का उल्‍लंघन माना जा रहा। साथ ही एएसआई एक्‍ट के नियम भी पूरी तरह से टूटे हैं।

बताया जा रहा है कि एनआरआई सम्‍मेलन के उद़घाटन पर अखिलेश ने 13 एमओयू किए थे। इसके बाद बिना पहले से इजाजत लिए पूरे लाव-लश्‍कर के साथ अखिलेश यादव ने सेंट्रल टैंक पर जाकर दो एमओयू किए। इस दौरान उनके साथ सिक्योरिटी गार्ड्स भी हथियारों के साथ मौजूद रहे और पूरी फ्लीट ताज के गेट तक पहुंची।

3

यहां महत्‍वपूर्ण है कि अपनी कार ले जाने के चक्कर में ही पिछले साल अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा का ताजमहल का दौरा कैंसिल हो गया था।

ताजमहल के अंदर हो गई बिजनेस डील

सोमवार को जो एमओयू किए गए, मंगलवार को ताजमहल पर उनका री-प्ले किया गया। सुबह 10 बजे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ताजमहल पहुंचे और राज्य सरकार तथा उत्तर प्रदेशीज इन कनाडा (यूपिका) के बीच और पैनोरमा इंडिया के साथ एमओयू साइन किया। यूपिका से संजीव मलिक और पैनोरमा इंडिया से अनु श्रीवास्तव ने हस्ताक्षर किए। एएसआई ने इस पूरे घटनाक्रम पर अपनी आपत्ति जताई है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के तहत ताजमहल के अंदर कोई भी बिजनेस डील या गतिविधि नहीं की जा सकती।

एएसआई ने उठाई आपत्ति

एएसआई के अधिकारियों के मुताबिक एमओयू व्यवसायिक गतिविधि है। केंद्र सरकार ने भी बीएसएनएल की वाई फाई सेवा का शुभारंभ ताज से न कर होटल से किया था। यही नहीं, एएसआई एक्ट में ताज में हथियार के साथ किसी का भी प्रवेश निषेध है। यह एक्ट का उल्लंघन है। एएसआई अधिकारी हैरत में हैं कि आखिर मुख्यमंत्री स्तर पर ताजमहल में नियमों का उल्लंघन कैसे किया जा सकता है।

इस पूरे मामले की जानकारी एएसआई अपने मुख्यालय और संस्कृति मंत्रालय को दे रहा है। मुख्यमंत्री से जुड़ा मामला होने के कारण इसे संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button