महात्मा गाँधी की राह चल क्या Navalny को मिल जाएगी जेल से निजात ?

मास्को – लम्बे समय से जेल में बंद क्रेमलिन क्रिटिक एलेक्सी Navalny की हालत बेहद ख़राब है। कैदिओं को जेल में मिलने वाली बेसिक हेल्थ केयर भी उन्हें मयस्सर नहीं हैं। जिसके बाद पैरों और रीढ़ में काफी दर्द की शिकायत पर जब सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने जेल में भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

रूस के प्रेजिडेंट पुतिन के सबसे बड़े क्रिटिक नवलनी ने बताया की जेल में उनके साथ बड़ा बुरा बर्ताव किया जा रह है। और जब उन्होंने इंसानियत की बुनियाद पर मेडिकल हेल्थ केयर की मांग की तो उन्हें पीटा भी गया।

खत लिख की गई है Navalny की रिहाई की मांग

नवलनी के इस बयान के बाद रूस के मेडिकल प्रोफेशनल्स ने प्रेजिडेंट के नाम एक ओपन लेटर लिखा है जिसमे 44 साल के इस ओपोज़िशन लीडर की उचित देखभाल की मांग की गई है। लेटर में कहा गया है की इस तरह के मरीज़ को यूँ रखना उसकी सेहत के  बेहतर नहीं है। रीढ़ की बीमारी से परेशान नवालनी का अगर जल्द ही ट्रीटमेंट नहीं किया गया तो उन्हें पैरालिसिस भी हो सकता है। आप को बताते चलें इस से पहले नवलनी को जर्मनी से रूस लौटते समय नर्व जहर भी दिया जा चुका है।

अमेरिका सहित यूरोप  के कई देशों ने ह्यूमन राइट्स की दुहाई देते हुए इनकी रिहाई की मांग की थी जिसके बाद रूस ने इस मसले को अपना इंटरनल मैटर बताते हुए इस मांग ख़ारिज कर दिया है।

यह भी पढ़ें : पर्यावरण पर सरकार की सजगता की नज़ीर है देश का पहला इलेक्ट्रिक Railway जोन

Related Articles