$1 billion refund मिलने पर केयर्न ने सरकार पर दर्ज मुकदमा लिया वापस

नई दिल्ली : ब्रिटेन की केयर्न एनर्जी ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि वह रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स कानून को रद्द करने के एवज़ में एक अरब डॉलर का refund मिलने के कुछ ही दिनों के अंदर विदेश में भारतीय एसेट्स को जब्त करने से जुड़े कानूनी मामलों को वापस ले लेगी। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें यह मामले अमेरिका से लेकर फ्रांस तक में भारतीय एसेट्स को जब्त करने के लिए दायर किए गए हैं।

refund की रकम जल्द की जाएगी ट्रांसफर

इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक सेंट्रल गवर्नमेंट ने हाल ही में 2012 के रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स से जुड़ी पॉलिसी को रद्द करने के लिए कानून पारित किया था। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें केयर्न ने देश में जमीन पर क्रूड ऑयल की सबसे बड़ी खोज की थी। कंपनी ने सरकार के इस कदम को मंज़ूर कर लिया है। खबर के मुताबिक रेट्रोस्पेक्टिव टैक्स से टैक्स डिपार्टमेंट को कई वर्ष पहले के उन मामलों में कैपिटन गेन्स टैक्स लगाने की शक्ति मिली थी जिनमें विदेश में कंपनी के मालिकाना हक में बदलाव हुआ था लेकिन उसके बिजनेस एसेट्स भारत में थे।

हाल ही में केयर्न ने इस वजह से कंपनी को दी गई टैक्स डिमांड के खिलाफ आब्रिट्रेशन का मामला जीता था। इसके बाद इस फैसले को लागू करवाने के लिए कंपनी ने विदेश में भारतीय एसेट्स को जब्त करने के लिए मामले दायर किए थे। इनमें एयर इंडिया भी शामिल था।

यह भी पढ़ें : तालिबान ने की घोषणा, अफगानिस्तान में बनी नई सरकार, मुल्ला बने प्रधानमंत्री

 

Related Articles