पंचांग 15 जुलाई 2015: जानिए आज का शुभ मुहूर्त और चौघड़िया!

पंचांग 15 जुलाई 2018, आज सूर्य-चंद्रमा की स्थिति के चलते सिद्धि योग बन रहा है। साथ ही जया तिथि भी है। तृतीया तिथि होने से आपके द्वारा किए गए कार्यों में सफलता मिल सकती है। दोपहर लगभग 1.30 बजे के बाद रवियोग बनने से छुट्टी का दिन शुभ रहेगा। हालांकि सितारों की स्थिति ठीक नहीं रहेगी, फिर भी 2 शुभ योग होने से जरूरी काम शुरू करने के लिए दिन ठीक रहेगा।

*आज का पंचाग*

*रविवार, १५ जुलाई २०१८*
सूर्योदय: ०५:३७
सूर्यास्त: ०७:१७
चन्द्रोदय: ०७:४०
चन्द्रास्त: २१:२३
अयन दक्षिणायन (उत्तरगोले)
ऋतु: वर्षा
शक सम्वत: १९४० (विलम्बी)
विक्रम सम्वत: २०७५ (विरोधकृत)
युगाब्द ५१२०
मास आषाढ़
पक्ष: शुक्ल
तिथि: तृतीया – २१:३५ तक
नक्षत्र: अश्लेशा – १३:२८ तक
योग: सिद्धि – २०:३३ तक
प्रथम करण: तैतिल – ११:१२ तक
द्वितीय करण: गर – २१:३५ तक

*गोचर ग्रहा:*

सूर्य मिथुन
चंद्र सिंह (१३:२८ से)
मंगल मकर
बुध कर्क
गुरु तुला
शुक्र सिंह
शनि धनु
राहु कर्क
केतु मकर

*शुभाशुभ मुहूर्त*

अभिजित मुहूर्त: ११:५५ – १२:५०
अमृत काल: १२:०३ – १३:२८
होमाहुति: सूर्य – १३:२८ तक
अग्निवास: आकाश – २१:३५ तक
दिशा शूल: पश्चिम में
नक्षत्र शूल: कोई नहीं
चन्द्र वास: उत्तर (पूर्व १३:२८ से)
दुर्मुहूर्त: १७:२५ – १८:२०
राहुकाल: १७:३२ – १९:१५
राहु काल वास: उत्तर में
यमगण्ड: १२:२२ – १४:०५

*चौघड़िया विचार*

॥ दिन का चौघड़िया ॥
१ – उद्वेग २ – चर
३ – लाभ ४ – अमृत
५ – काल ६ – शुभ
७ – रोग ८ – उद्वेग
॥रात्रि का चौघड़िया॥
१ – शुभ २ – अमृत
३ – चर ४ – रोग
५ – काल ६ – लाभ
७ – उद्वेग ८ – शुभ
नोट- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।

*तिथि विशेष*

आज १३:२८ तक जन्मे शिशुओ का नाम

आश्लेषा तृतीय, चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (डे, डो) तथा इसके बाद जन्मे शिशुओ का नाम मघा प्रथम, द्वितीय, तृतीय चरण अनुसार क्रमशः (मा, मी, मू) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है।

आश्लेषा के चारोचरण गंडमूल के अंतर्गत आते है इसके तृतीय पद में जन्म होने से माता को हानि, चतुर्थ पद में – पिता को हानि होती है जन्म से २७ वे जन्म नक्षत्र के दिन नक्षत्र शांति कराना शास्त्र सम्मत है।

*उदय-लग्न मुहूर्त*

०५:२९ – ०५:३६ मिथुन
०५:३६ – ०७:५८ कर्क
०७:५८ – १०:१६ सिंह
१०:१६ – १२:३४ कन्या
१२:३४ – १४:५५ तुला
१४:५५ – १७:१५ वृश्चिक
१७:१५ – १९:१८ धनु
१९:१८ – २०:५९ मकर
२०:५९ – २२:२५ कुम्भ
२२:२५ – २३:४९ मीन
२३:४९ – २५:२२ मेष
२५:२२ – २७:१७ वृषभ
२७:१७ – २९:३० मिथुन

*शुभ यात्रा दिशा*

पूर्व-उत्तर की दिशा की यात्रा के दौरान पान का सेवन करें, आपकी यात्रा शुभ रहेगी।

Related Articles