कंबोडिया : अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षकों ने चुनाव की वैधता पर उठाये सवाल

नोमपेन्ह| कंबोडिया प्रशासन राष्ट्रीय विधायी चुनाव की तैयारियों को शनिवार को अंतिम रूप देने में जुटा हुआ है। पिछले साल देश की मुख्य विपक्षी पार्टी के विघटित होने के बाद घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षकों ने चुनाव की वैधता को लेकर सवाल उठाए थे। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, राष्ट्रीय चुनाव समिति (एनईसी) के अधिकारियों ने करीब 23 हजार मतदान केंद्रों पर रविवार को चुनाव में इस्तेमाल होने वाले दस्तावेज, तैयारी सामग्रियों और मतपेटियों को लगाने का काम शुरू कर दिया है। इस चुनाव में 83 लाख पंजीकृत कंबोडियाई नागरिक अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

कंबोडिया

एनईसी के प्रवक्ता डिम सोवन्नारोम ने राष्ट्रीय राजधानी नोमपेन्ह में बूथों पर चल रही तैयारियों का जायजा लिया और निष्पक्ष, मुक्त व पारदर्शी चुनाव का आह्वान किया।

प्रधानमंत्री हुनसेन के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ कंबोडियन पीपुल्स पार्टी (सीपीपी) देश में 1985 से शासन कर रही है और संभावना जताई जा रही है कि यह कुल 125 सीटों में से अधिकांश पर दोबारा जीत हासिल कर लेगी। हालांकि 19 अन्य उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में हैं।

कंबोडिया नेशनल रेस्कयू पार्टी (सीएनआरपी) ने 2013 में 44 फीसदी मत हासिल किए थे, लेकिन 2017 में इसके नेता केम सोखा को, सरकार को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए दूसरे देशों के साथ मिलकर साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया और पार्टी को भंग कर दिया गया था।

Related Articles