अब तक 1 करोड़ से अधिक श्रमिकों का हुआ पंजीकरण, छात्रों को मिला ये उपहार

लखनऊः प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन व समन्वय मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami prasad maurya) ने पंजीकृत निर्माण श्रमिको (workers) की कक्षा-9वीं से कक्षा 12वीं उत्तीर्ण पुत्र/पुत्रियों हेतु संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अन्तर्गत सोमवार को जनपद सिद्धार्थनगर के विकास खण्ड बांसी में 25 छात्र/छात्राओं तथा विकास खण्ड मिठवल में 25 छात्र/छात्राओं को साइकिल प्रदान किया। इस अवसर पर सांसद डुमरियागंज प्रतिनिधि एस0पी0 अग्रवाल, मुख्य विकास अधिकारी पुलकित गर्ग आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर श्रम मंत्री ने कहा कि श्रम विभाग पूरे प्रदेश में अभियान चलाकर श्रमिकों (workers) को कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कर रहा है।

1 करोड़ से अधिक श्रमिको का हुआ पंजीकरण

श्रमिकों का अधिक से अधिक पंजीकरण हो, इसके लिए मैं स्वयं प्रत्येक जिले के लेबर अड्डों पर गया, जिसका परिणाम रहा कि अब तक 01 करोड़ से अधिक श्रमिकों का पंजीकरण हो चुका है, जबकि प्रदेश की वर्तमान सरकार के पहले पिछले 10 सालों में मात्र 36 लाख श्रमिकों का पंजीकरण हुआ था। श्रम मंत्री ने कहा कि ऐसे सभी श्रमिक जो 18-60 वर्ष आयु के है और पंजीकरण के समय पिछले 12 माह में 90 दिनो तक निर्माण श्रमिक के रूप में कार्य किया हो।

पंजीकरण के लिए ये साथ रखना जरूरी

निर्माण श्रमिक श्रम विभाग के जिला श्रम कार्यालय/जन सेवा केन्द्रों पर पंजीयन फार्म के साथ एक फोटो, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति के साथ निर्माण श्रमिक के रूप में गत 12 माह में 90 दिनो तक कार्य करने का प्रमाण-पत्र/ रू0 20 पंजीकरण शुल्क तथा रू0 20 एक वर्ष का अंशदान शुल्क के साथ सम्पर्क करे। निर्माण श्रमिक एक साथ तीन वर्ष का अंशदान रू0 60 जमा कर सकता है।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने श्रम विभाग की योजनाओं की समीक्षा

सिद्धार्थनगर जनपद के प्रभारी मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने विकास खण्ड-बांसी सभागार में श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने निर्देशित किया कि विभाग द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं का लाभ श्रमिकों के जीवन को सुखमय बनाने के लिए उन तक पहुंचाया जाय तथा अभियान चलाकर श्रमिक पंजीकरण कार्य में तेजी लाई जाय।

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी श्री शेषमणि सिंह, पी0डी0 सन्त कुमार, जिला कृषि अधिकारी सी0पी0सिंह, जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी लीलाधर सहित अन्य संबधित अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles