कोई मां का लाल मोदी की ईमानदारी पर नहीं उठा सकता सवाल: राजनाथ सिंह

0

लखनऊ: राफेल मुद्दे पर विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए ‘चोर’ शब्द का प्रयोग करने पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने करारा जवाब दिया है। राजनाथ सिंह ने कहा है कि मोदी जी पर जो आरोप लगाना हो लगा दीजिए, कहिए मोदी जी ने काम कम किया, काम अधिक किया और उनको और काम करना चाहिए, लेकिन कोई मां का लाल अंगुली उठाकर उनकी नीयत और ईमान पर सवालिया निशान नहीं लगा सकता।

कांग्रेस पार्टी को घेरते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ”भारत को आर्थिक दृष्टि से विकसित करने का सबसे पहले किसी ने प्रयास किया था तो अटल बिहारी वाजपेयी थे। आज वही काम नरेंद्र मोदी कर रहे है। कांग्रेस शासन काल मे जीडीपी का ग्रोथ रेट हॉफ रहता था। हमारी सरकार के किसी मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पर कोई माई का लाल आरोप नहीं लगा सकता। आडवाणी जी इसके उदाहरण है, जब उनपर आरोप लगा था तो उन्होंने कहा था, जब तक आरोप निराधार नहीं होते संसद भवन में कदम नहीं रखेंगे। मोदी पर कोई आरोप लगा ले, लेकिन कोई माई का लाल उनपर घपले और घोटाला का आरोप नहीं लगा सकता। राजनीति आंखों में आंख डाल कर की जाती है, आंखों में धूल झोंककर नहीं। आज दुनिया में भारत की तस्वीर बदली है। कांग्रेस के शासन काल में जो छवि विदेशों में थी, वो अब बदल चुकी है। अंतरराष्‍ट्रीय मंचों पर जो सम्मान हमारे प्रधानमंत्री को मिला है, वो पहले कभी नहीं मिला था।”

गृहमंत्री ने कहा, ”राजनेताओ को आरोप लगाते हुए बहुत सोच समझकर बोलना चाहिए। आंखों में धूल झोंककर राजनीति नहीं करनी चाहिए। कहते है कि किसानों को 17 रुपये प्रतिदिन देकर अपमान किया उन्हें क्या पता कि 6 हजार की मदद से किसानों को क्या फायदा मिलेगा। चीजों को तोड़-मरोड़कर पेश किया जाता। पिछले साढ़े चार सालों में कोई आतंकवादी वारदाते नहीं हुई। पठानकोट और गुरुदासपुर में हुआ भी तो सभी को खोज-खोज कर मार डाला गया। हमारी नीति है टिट फ़ॉर टैट। जब सर्जिकल स्ट्राइक की बात हुई तो कई लोगों ने दबाव बनाया अंतराष्ट्रीय दबाव की बात हुई, लेकिन किसी भी देश की हिम्मत नहीं हुई।”

राजनाथ सिंह ने कहा, ”साढ़े चार वर्षों में अगर हमारी सरकार ने क्या किया है, यह बताने में घंटो लग जाएंगे। आज़ादी के बाद पहली बार करिश्माई काम हुआ है। भारत के हर परिवार का बैंकों में खाता खुला है। 99.99 प्रतिशत लोगों के खाते खुल गए है, जिनमें 75 प्रतिशत महिलाओं के खाते है। आज जरूरत पड़ने पर दस हजार रुपए न्यूनतम ब्याज में किसी को भी दिया जाता है।” उन्होंने कहा, ”चार साल पहले विकसित देशों में भारत नौंवे स्थान पर था, आज पांचवें स्थान पर है। मैं जानता कि आंखों में धूल झोंककर राजनीति नहीं करता। ज्यादा से ज्यादा अगले दस सालों में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया के तीसरे स्थान पर होगा। हम दुनिया को डराने वाला सुपर पावर नहीं बनाना चाहते, बल्कि हम ऐसा चाहते है कि दुनिया भारत से मोहब्बत करे, भारत सुपर पावर नहीं बल्कि विश्व गुरु बनेगा।”

loading...
शेयर करें