विदेशी नेताओं के साथ हो रही बातचीत को सुनने पर रोक लगा सकते है: ट्रम्प

0

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर लगाए गए महाभियोग में कुछ भी सिद्ध न होने पर ट्रम्प ने महाभियोग का खंडन करते हुए कहा कि यह मेरे खिलाफ पूरी तरह से पक्षपातपूर्ण था। डोनाल्ड ट्रम्प इस चलन पर रोक लगा सकते है। जिसमे विदेशी नेताओं के साथ फोन पर होने वाली बातचीत प्रशासनिक अधिकारियों को सुनने की इजाजत होती है। बता दें कि पिछले साल जुलाई में ट्रम्प ने यूक्रेन के राष्ट्रपति के साथ फोन पर बातचीत के चलते महाभियोग की कार्यवाही शुरू हुई थी।

 

डोनाल्ड ट्रम्प की पिछले वर्ष 25 जुलाई को यूक्रेन के राष्ट्रपति से हुई बातचीत को विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और व्हाइट हाउस के कर्मचारियों ने सुना। ट्रंप के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने इस बात की पुष्टि की है कि राष्ट्रपति चाहे तो वह ऐसा कर सकते हैं कि उनका फोन कॉल कोई अन्य न सुनें।

किसी भी प्रशासन में यह परंपरा होती है कि वेस्ट विंग बेसमेंट में एक सुरक्षित तथा साउंडप्रूफ सिच्वेशन रूम में कर्मचारी राष्ट्रपति की बातचीत को लिपिबद्ध करते हैं। इसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के अधिकारी कॉल संबंधी पत्रक तैयार करते हैं और यह एक आधिकारिक रिकॉर्ड बन जाता है।

loading...
शेयर करें