क्या पूर्व राष्ट्रपति जल्द कर सकते है जेल का दीदार?

नई दिल्ली: भ्रष्टाचार मामलें में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी (Nicolas Sarkozy) को तीन साल की सजा सुनाई गई है. हालांकि तीन साल की सजा में दो साल का निलंबन शामिल है. इसलिए निकोलस के जेल जाने की सम्भावना कम है. उनके खिलाफ कोई अरेस्ट वारंट भी जारी नहीं किया गया है. निकोलस ऊपरी अदालत में अपील करने के लिए स्वतंत्र है.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी (Nicolas Sarkozy) पर अभियोजन पक्ष ने आरोप लगाया था कि उन्होंने अवैध पैसे के लेन-देन मामलें में खुद के खिलाफ चल रहे केस की ख़ुफ़िया जानकारी एक मौजूदा जज से मांगी थी. इसके बदले में निकोलस सरकोजी ने उस जज को लुभावनी नौकरी की पेशकस की थी. बता दे कि निकोलस सरकोजी पर 2007 में चुनावी कैम्पेन के लिए अवैध पैसे लेने का आरोप लगा था.

गद्दाफी ने दिया था नोटों से भरा बैग

सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष के वकीलों ने दावा किया था कि लीबिया के पूर्व तानाशाह गद्दाफी ने निकोलस सरकोजी (Nicolas Sarkozy) को नोटों से भरा बैग दिया. और यह बात तब सामने आई जब सरकोजी और उनके वकील थिएरी हरजॉग के बीच हुई बातचीत को टैप कर सुना गया.

Nicolas Sarkozy पर पड़ेगा गहरा असर

सरकोजी ने 2007 से 2012 तक फ्रांस पर शासन किया. निकोलस के राजनीतिक करियर के लिए अदालत का यह फैसला काफी चुनौती भरा हो सकता है.

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के बाद अमित शाह ने लगवाया टिका, इस उम्र के लोग भी लगवा सकते है वैक्सीन

Related Articles