कनाडा ने ब्रेक्सिट के बाद समझौते को लागू करने के लिए विधेयक पेश किया

कनाडा सरकार ने ब्रेक्सिट के बाद इंग्लैंड के साथ नए व्यापार समझौता लागू करने के लिए विधेयक पेश किया है। विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी।

टोरंटो: कनाडा सरकार ने ब्रेक्सिट के बाद इंग्लैंड के साथ नए व्यापार समझौता लागू करने के लिए विधेयक पेश किया है। विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी। और इससे जुडी तमाम बाते विस्तार से समझाई।

इससे पहले बुधवार को कनाडा के लिए ब्रिटेन के उप उच्चायुक्त डेविड रीड और कनाडा के अंतरराष्ट्रीय व्यापार मामलों के उपमंत्री जॉन हनाफोर्ड ने व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किए जो मौजूदा व्यापार व्यवस्था को प्रभावी बनाए रखेगा।

बयान में कहा, “छोटे व्यापार और अंतरराष्ट्रीय व्यापार मामलों के मंत्री मैरी एनजी ने कनाडा- इंग्लैंड व्यापार निरंतरता समझौता को लागू करने के लिए सदन में विधेयक सी-18 पेश किया।”

इंग्लैंड के औपचारिक रूप से यूरोपीय संघ छोड़ने के बाद यह समझौता एक जनवरी को लागू होने की उम्मीद है।

ब्रिटेन की संसद में उठा भारतीय किसानो का मुद्दा 

ब्रिटेन की संसद में बुधवार को भारतीय किसानो को लेकर मुद्दा उठाया गया। तो इस पर प्रधानमन्त्री बोरिस जॉनसन के बयान ने सबको चौंका दिया। लेबर पार्टी के सिख सांसद ने प्रधानमंत्री तनमन सिंह ने प्रधानमंत्री से भारतीय किसानो को लेकर सवाल किया तो बोरिस भ्रमित हो गए और उन्होंने  भारत पाक पर बोलना शुरू कर दिया, जो कि सबके लिए काफी चौकाने वाला था।

यह भी पढ़े: राम मंदिर निर्माण का काम रुका, नींव में मिली भुरभुरी बालू

यह भी पढ़े:अंबानी ने सरकार से की अपील, 2जी के 30 करोड़ उपभोक्ताओं को स्मार्टफोन पर शिफ्ट किया जाए

Related Articles

Back to top button