जेएनयू हिंसा को लेकर एएमयू में कैंडल मार्च, छात्रों को समर्थन का एलान, आज तिरंगा मार्च

जेएनयू में दो छात्र गुटों के बीच हुई बर्बरता को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कैंडल मार्च निकाला गया। छात्रों ने जेएनयू छात्रों को पूर्ण समर्थन देने की बात।अमुवि छात्रों ने एवीबीपी पर आरोप लगाते हुए निशाना साधा.एएमयू छात्रों ने कहा कि जेएनयू में दो छात्र गुटों के बीच हुई हिंसा की घटना व एबीवीपी  के कार्यकर्ताओं की करतूत का हम विरोध करते हैं। पुलिस के साथ जेएनयू में घुसकर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने जेएनयू छात्रों के साथ जो बर्बरता की है उसके विरोध में ही हम लोगों ने कैंडल मार्च निकाला है।

हमारी मांग है कि ऐसे लोगों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। अगर कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्र जेएनयू के छात्रों के साथ खड़े हैं और जेएनयू की जो प्रेसिडेंट चोटिल हुई हैं उससे हम बहुत दुखी हैं। हम छात्रों के साथ हैं।

जानकारी के अनुसार जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आईशी घोष व उनके साथियों पर हुए हमले के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने परिसर में प्रदर्शन किया। साथ ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के खिलाफ नारेबाजी की। भाजपा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए। छात्रों के तेवर देख पुलिस-प्रशासन सक्रिय हो गया। 15 दिसंबर की रात हुए बवाल के मद्देनजर बाब-ए-सैयद, चुंगी सहित चारों ओर सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए।

तिरंगा मार्च को लेकर सुरक्षा बढ़ी
सोमवार को एएमयू में तिरंगा मार्च निकाला जाएगा। यह मार्च दोपहर तीन बजे से मास कम्युनिकेशन विभाग से बाब-ए-सैयद तक निकलेगा। तिरंगा मार्च को लेकर सुरक्षा व्यवस्था ज्यादा बढ़ा दी गई है।

धरने का था अंदेशा
एएमयू में पांच जनवरी तक अवकाश था, जिसे आगे बढ़ा दिया गया, लेकिन रविवार देर शाम छात्र जिस तरह एकत्र हुए, उससे इंतजामिया फिक्रमंद हो गया था। कहीं छात्र धरना देना शुरू न कर दें। इसलिए इंतजामिया ने छात्रों को समझा-बुझाकर वापस कर दिया।

Related Articles