गोरखपुर हादसा : बच्चों की आत्मा की शांति के लिए इलाहाबाद में निकली कैंडल मार्च

0

इलाहाबाद। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में शुक्रवार को ऐसी त्रासदी हुई जिसे चाहकर भी कोई भुला नहीं सकता। हर तरफ मातम पसरा था, चीख पुकार मची थी। हर तरफ बस मौत का शोर था और ये सब बस अस्पताल की लापरवाही थी। आक्सीजन सप्लाई ठप होने से अस्पताल कब्रिस्तान बन गया। 36 बच्चों की मौत हो गई है। खबरों के मुताबिक पिछले 5 दिनों में 60 बच्चों की मौत हो चुकी है। हालांकि, अस्पताल प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से इंकार किया है।

also read: अस्पताल में भावुक हुए सीएम योगी, कहा-हर हाल में होगी कार्रवाई

इस दर्दनाक घटना के बाद गोरखपुर से लेकर इलाहाबाद तक हडकंप मचा हुआ है। जानकारी के मुताबिक, यहां इंसेफ़लाइटिस के मरीजों के लिए सौ बेड बने हैं। इन बड़ों के आईसीयू सहित दूसरे आइसीयू व वार्डों में देर रात 11। 30 बजे से ही ऑक्सीजन की सप्लाई ठप होना शुरू हो गई थी। यह सिलसिला सुबह 9 अजे तक चलता रहा। जिसके बाद एक एक करके करीब 36 बच्चों की मौत हो गई।

वहीं, इस घटना से पूरे प्रदेश में भूचाल सा आ गया है। हर तरफ जनता व विपक्ष पार्टियां राज्य सरकार और अस्पताल प्रशासन को कोस रही हैं। इसी क्रम में शहर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष मोहम्मद असलम ने जनता व युवाओं के साथ बच्चों की आत्मा की शांति के लिए कैंडल मार्च निकाला। भारतीय युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव ने मोमबत्ती जलाकर बच्चों को श्रद्धांजलि अर्पित की। लोगों ने मार्च निकालकर बच्चों की मौत दुख व्यक्त किया।

इस घटना के बाद चारों तरफ चीख पुकार व अफरातफरी का माहौल है। बताते चलें, पहली बार रात आठ बजे अस्पताल के इंसेफलाइटिस वार्ड में आक्सीजन सिलेंडर से की जा रही सप्लाई ठप हो गई। इसके बाद वार्ड को लिक्वड आक्सीजन से जोड़ा गया। यह भी रात 11।30 बजे खत्म हो गया। इससे यहां तैनात डॉक्टरों के होश उड़ गए। हर तरफ अफरा तफरी का माहौल था।

loading...
शेयर करें