बिहार के पूर्व सीएम मांझी की बेटी के खिलाफ हत्‍या का आरोप

Jitan-Ram-Manjhiगया बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी की बेटी सुनैना देवी के खिलाफ बहू की हत्या कर शव गायब करने का आरोप लगाया गया है। बहू के परिजनों द्वारा गया के डेल्हा थाने में इस मामले की एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस के अनुसार, गया निवासी सुनैना देवी के बेटे विक्की की शादी जहानाबाद के सुगांव निवासी रामदेव मांझी की बेटी सोनी के साथ मार्च 2008 में हुई थी।

पुलिस ने बताया कि रामदेव मांझी ने प्राथमिकी दर्ज कराई। जिसमें आरोप लगाया गया है कि उनकी बेटी सोनी को उसकी सास सुनैना देवी, ससुर योगेन्द्र प्रसाद, पति विक्की कुमार, देवर गुड्ड कुमार और योगेन्द्र ने बेरहमी से मार डाला है। इसमें उसके साथी गोपाल प्रसाद ने भी मदद की है। रामदेव मांझी ने पुलिस को बताया कि सुनैना देवी के पति योगेन्द्र प्रसाद ने फोन कर गया बुलाया। पहुंचने पर वह उन्हें एक कार में बैठाकर जहानाबाद की ओर ले जाने लगे और सुनसान जगह पर ले जाकर कहा कि आपकी बेटी इस दुनिया में नहीं है। इसके बाद वे लोग उन्हें एक सुनसान जगह छोड़कर पटना की ओर चले गए।

रामदेव मांझी ने पुलिस को बताया कि सोनी की शादी मार्च 2008 में सुनैना देवी के बड़े बेटे विक्की के साथ हुई थी। शादी के कुछ माह बाद ही पैसे की मांग होने लगी थी। दो लाख रुपये मांगे गए थे। उन्होंने आरोप लगाया है कि मांग पूरी नहीं होने पर ससुराल वालों ने उनकी बेटी को जान से मार दिया है।

पुलिस ने बताया कि वार्ड पार्षद सुनैना के पति योगेन्द्र ने फोन पर जानकारी दी है कि वह अपनी बहू को ढूंढ़ने निकले हैं। जल्द ही वह थाने पहुंचकर अपना पक्ष रखेंगे। गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक ने कहा कि लड़की के पिता के आवेदन के आधार पर डेल्हा थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। हम के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि “हत्या की प्राथमिकी मांझी की पुत्री को फंसाने की साजिश है। सोनी घर से नाराज होकर कहीं चली गई है।”

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button