फर्जी TET कैंडिडेट के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश

0

court-room-hammerआगरा। राजकीय इंटर कॉलेजों में टीजीटी शिक्षक भर्ती मामले में तीन कैडिंडेट के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। यह मुकदमा संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षक ने कराया है। उक्त कैडिंडेट ने फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी पायी थी। ये तीनों अभ्यर्थी इटावा, मैनपुरी और फिरोजाबाद के हैं।

संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा अरविंद कुमार पांडेय ने बताया कि मामला माध्यमिक शिक्षा विभाग मे चल रही एलटी ग्रेट में टीजीटी कैडिंडेट की भर्ती से जुडा है। इस प्रक्रिया में तमाम कैडिंडेट ने आवेदन किया और शानदार अंकों के आधार पर मैरिट मे जगह पा ली। हालांकि मैरिट में जगह बनाने वाले तमाम कैडिंडेट ने नियुक्ति पत्र ही नही लिये, लेकिन जो आये उनका वैरिफिकेशन कराने के बाद ही उनको नियुक्ति पत्र जारी किये गये है। जिसके बाद वैरिफिकेशन में विभाग को तीन कैडिंडेट के प्रमाण पत्र फर्जी मिले है।

जिन कैडिंडेट के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है उनमें इटावा निवासी प्रीति हैं। इन्हें राजकीय हाईस्कूल अकोस मथुरा में नियुक्ति मिली थी। दूसरी फिरोजाबाद निवासी कैडिंडेट राखी हैं। इन्हे जीजीआईसी मैनपुरी में नियुक्ति मिली थी। तीसरे कैडिंडेट मैनपुरी निवासी अजय हैं। जिन्हे राजकीय हाईस्कूल बछगांव मथुरा में नियुक्ति मिली थी। इन तीनों के प्रमाण पत्र मानव भारती विवि सोनल हिमाचल प्रदेश के थे जो कि फर्जी थे। इस मामले मे संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा ने संबन्धित जिला विद्यालय निरीक्षकों को आरोपी शिक्षकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दे दिये है।

loading...
शेयर करें