Category: डा.राधेश्याम द्विवेदी

अमहट पुल की व्यथा- कथा

(डा. राधेश्याम द्विवेदी) कुवानो नदी का दर्द। कुवानों का उद्गम कोई पहाड़ ना होकर कुंवा है। इसे कूपवाहिनी भी कहते हैं। यह बहराइच जिले के पूर्वी निचले भाग से प्रारम्भ होकर गोण्डा के बीचोबीच होकर रसूलपुर…

हाथी घाट सौन्दर्यीकरण परिकल्पना का लोकार्पण

डा. राधेश्याम द्विवेदी। आगरा। 07 फरवरी को यमुना मंथन 2017 संचेतना के क्रम में गुरु वशिष्ठ मानव सर्वागीण विकास समिति के तत्वावधान में यमुना शुद्धिकरण जन चेतना महाभियान के अन्तर्गत मां यमुना की वेदी में…

विश्व में मोदीजी का कोई विकल्प नहीं

डा. राधेश्याम द्विवेदी नरेंद्र मोदी विश्व के पॉपुलर नेता :-  विश्व के सबसे लोकप्रिय नेताओं के लिए कराये गए एक सर्वे में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रियता के मामले में टॉप टेन के अंदर…

ऐतिहासिक हाथीघाट पर झण्डारोहण: कार्यसेवा व हरियाली बनाने की पहल शुरु

(डा. राधेश्याम द्विवेदी) आगरा। यमुना निर्मलीकरण के प्रसिद्ध सत्याग्रही पंडित अश्विनी कुमार मिश्र के संयोजन में तथा श्रीगुरु वशिष्ठ मानव सर्वांगीण विकास सेवा समिति के तत्वावधान में 68वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक हाथीघाट…

हाथीयुद्ध मनोरंजन का लोकप्रिय साधन तथा आगरा के हाथीघाट का इतिहास

(डा– राधेश्याम द्विवेदी) हाथियों का व्ंशानुगत इतिहास हाथी जमीन पर रहने वाला विशाल आकार का स्तनपायी प्राणी है। आज के समय में हाथी परिवार कुल में केवल दो प्रजातियाँ जीवित हैं। एलिफस तथा लॉक्सोडॉण्टा। तीसरी…

सुभाष चंद्र बोस की 121वीं जयन्ती

(डा. राधेश्याम द्विवेदी) जन्म परिचय। नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को उड़ीसा में कटक के एक संपन्न बंगाली परिवार में हुआ था। बोस के पिता का नाम ‘जानकीनाथ बोस’ और माँ का…

यमुना शुद्धीकरण तथा पर्यावरण संरक्षण

डा. राधेश्याम द्विवेदी। आगरा। यमुना निधि के संयोजक तथा श्री गुरु वशिष्ठ मानव सर्वांगीण विकास सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष पण्डित अश्विनी कुमार मिश्र जी ने एक अनूठी पहल शुरु किया है। आगरा में विगत…

भारत में इस्लामीकरण

डा. राधेश्याम द्विवेदी। इस्लाम आज के युग में एक सशक्त कौम के रुप में उभर आया है। इसका इतिहास इतना प्राचीन ना होते हुए भी यह अपने क्रियाकलापों के कारण वैश्विक जगत में महत्वपूर्ण स्थान…